बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyअटक सकता है H-1B वीजाहोल्डर के जीवनसाथी को जॉब से रोकने वाला प्रपोजल

अटक सकता है H-1B वीजाहोल्डर के जीवनसाथी को जॉब से रोकने वाला प्रपोजल

भारतीय अमेरिकी डेमोक्रेट लॉमेकर ट्रम्‍प प्रशासन के एक प्रस्‍ताव के विरोध में उतर आए हैं।

1 of

 

 

वाशिंगटन. भारतीय अमेरिकी डेमोक्रेट लॉमेकर ट्रम्‍प प्रशासन के एक प्रस्‍ताव के विरोध में उतर आए हैं। ट्रम्‍प प्रशासन H-1B वीजा पर अमेरिका आए भारतीयों के स्‍पाउस को काम करने से रोकने की योजना पर काम रहा है। H-1B वीजा पर अमेरिका आए भारतीयों के स्‍पाउस को काम करने की छूट ओबामा प्रशासन ने दी थी।

 

 

इस छूट की योजना का खत्‍म करने की तैयारी

ट्रम्‍प प्रशासन H-1B वीजा पर अमेरिका आए लोगों के स्‍पाउस को काम करने से रोकने की योजना पर काम कर रहा है। अगर यह प्रस्‍ताव पास हो जाता है तो हजारों भारतीयों को काम से हाथ धोना पड़ेगा। यह लोग H-4 वीजा पर अमेरिका में काम कर रहे हैं। H-4 वीजा पर करीब 70 हजार भारतीय काम कर रहे हैं।

 

 

महिलाओं को मिले H-4 वीजा

इंडियन अमेरिकन कांग्रेसवोमेन प्रमिला जयपाल ने यहां US इंडिया फ्रैंडशिप काउंसिल के एक कार्यक्रम में कहा कि मेरी राय कि H-4 वीजा उन महिलाआें को मिलना चाहिए जो योग्‍य हैं, बल्कि कहें कि अपने स्‍पाउस से भी ज्‍यादा योग्‍य हैं। उन्‍होंने कहा कि मैं H-4 वीजा को खत्‍म करने की योजना का विरोध करती हूं। प्रमिला पहली चुनी हुई महिला हैं जो हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के लिए चुनी गई थीं। उन्‍होंने कहा कि यह एक जेंडर इश्‍यू है। उन्‍होंने कहा कि H-4 वर्क परमिट से सबसे ज्‍यादा लाभ महिलाओं को ही मिला है।

 

 

H-1B के स्‍पाउस को काम के लिए चलाया था अभियान

कांग्रेस के लिए चुनी जाने के पहले प्रमिला ने H-1B वीजा पर आए लोगों के स्‍पाउस को काम का अधिकार देने के लिए पूरे अमेरिका में अभियान चलाया था। H-4 पर ज्‍यादातर काम करने वाले लोग ज्‍यादातर योग्‍य भारतीय हैं। इन लोगों को वर्क परिमिट विशेष आदेश के तहत मिला था।

 

 

सबसे ज्‍यादा फायदा भारतीयों को मिला

अमेरिका में इस कानून का सबसे ज्‍यादा फायदा भारतीयों को मिला था। इस नियम के तहत करीब 1 लाख लोग H-4 वीजा पर काम कर रहे हैं। इनमें से करीब 70 हजार भारतीय हैं।

 

वर्क परमिट हासिल करने में लगते हैं 10 साल

ओबामा सरकार द्वारा 2015 में जारी नियम से परमानेंट रेजिटेंड स्टेटस हासिल करने के इच्छुक एच1बी वीजा होल्डर्स के स्पाउस के लिए वर्क परमिट हासिल करने का रास्ता साफ हुआ है, जिसके बिना वह नौकरी नहीं कर सकते थे। इस प्रोसेस में एक दशक या उससे भी ज्यादा लंबा वक्त लग जाता है।

 

 

जल्द आदेश दे सकती है ट्रम्प सरकार

ट्रम्प सरकार इस प्रोविजन को खत्म करने की योजना बना रही है। यूएएस सिटीजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेस (यूएससीआईएस) डायरेक्टर फ्रांसिस सिस्ना ने सीनेटर चुक ग्रासले को भेजे लेटर में कहा कि इन गर्मियों के आखिर में इससे संबंधित औपचारिक आदेश दिए जाने का अनुमान है। सिस्ना ने कहा, ‘हमारी नौकरी के लिए पात्र बनाने वाले एच-4 डिपेंडेंट स्पाउसेस को खत्म करने के लिए रेग्युलेटरी बदलावों का प्रस्ताव करने की योजना है, जिससे इसके लिए पात्र बनाने वाला 2015 का नियम पलट जाएगा।’

 

उन्होंने कहा कि यह एक्शन ‘हमारे इमिग्रेशन सिस्टम में अमेरिकी वर्कर्स के हितों की रक्षा में पिछले नियम को खारिज करने या संशोधन और गाइडैंस देने के वास्ते प्रस्ताव करने के लिए’ एक्जीक्यूटिव ऑर्डर के समान होगा। सिस्ना ने कहा कि रेग्युलेशन में अन्य संशोधनों के साथ लोगों के पास नोटिस और कमेंट पीरियड के दौरान अपना फीडबैक देने का मौका मिलेगा।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट