Home » Economy » Policyकंज्‍यूमर ड्यूरेबल सेक्टर की सुस्‍ती से आईआईपी को लगा झटका - IIP hit due to sluggish consumer durable sector

मैन्युफैक्चरिंग ने दिया इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन को झटका, 3 महीने के निचले स्तर पर पहुंचा IIP

अक्‍टूबर में औद्योगिक उत्‍पादन ग्रोथ 3 माह के नीचले स्‍तर पर आकर 2.2 फीसदी रह गई। यह ग्रोथ सितबंर में 4.1 फीसदी थी।

1 of

 

नई दिल्‍ली. अक्‍टूबर में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP)  की ग्रोथ 3 महीने के निचले स्‍तर 2.2 फीसदी आ गई, जबकि सितबंर में  यह ग्रोथ 4.14 फीसदी रही थी। सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक गिरावट की मुख्य वजह कंज्‍यूमर ड्यूरेबल और माननिंग सेक्‍टर का निराशाजनक प्रदर्शन रहा है। पिछले साल अक्‍टूबर में औद्योगिक ग्रोथ 4.2 फीसदी रही थी।

 

7 महीनों में सुस्त हुई मैन्‍युफैक्‍चरिंग की ग्रोथ

इस साल अप्रैल से अक्‍टूबर तक आईआईपी ग्रोथ 2.5 फीसदी रही जो पिछले साल इसी दौरान 5.5 फीसदी थी। इसमें गिरावट का कारण बने मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर की ग्रोथ अक्‍टूबर में 2.5 फीसदी रही जो पिछले साल अक्‍टूबर में 4.8 फीसदी थी। इस सेक्टर का आईआईपी में वैटेज 77.63 फीसदी है। यह इस साल अप्रैल से अक्‍टूबर के दौरान 2.1 फीसदी रही जो पिछले साल अक्‍टूबर में 5.9 थी।

 

 

कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स सेक्‍टर का हाल ज्‍यादा खराब

कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स सेक्‍टर का हाल ज्‍यादा खराब रहा। इस सेक्‍टर में 6.9 फीसदी की निगेटिव ग्रोथ दर्ज की गई जबकि पिछले साल अक्‍टूबर में इस सेक्‍टर में 1.5 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई थी। इस साल अ्रप्रैल से अक्‍टूबर तक इस सेक्‍टर की ग्रोथ निगेटिव 1.9 फीसदी दर्ज की गई, जबकि पिछले साल इसी दौरान इस सेक्‍टर में 6 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई थी।

 
आईआईपी की मुख्य बातें
-अप्रैल से अक्‍टूबर 2017 के दौरान यह ग्रोथ 2.5 फीसदी रही, जो इसके एक साल पहले इसी समय के दौरान 5.5 फीसदी थी।
-अक्‍टूबर में कंज्‍यूमर नॉन ड्यूरेबल्‍स ग्रोथ 7.7 फीसदी रही हो एक साल पहले 5.6 फीसदी थी।
-अक्‍टूबर में कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स ग्रोथ -6.9 फीसदी रही जो एक साल पहले 1.5 फीसदी थी।
-अक्‍टूबर में इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर गुड्स सेक्‍टर की ग्रोथ 5.2 फीसदी रही जबकि यह एक साल पहले 7.4 फीसदी थी।
-अक्‍टूबर में इंटरमीडिएट गुड्स सेक्‍टर में ग्रोथ केवल 0.2 फीसदी रही जो एक साल पहले 4.7 फीसदी रही।
 
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट