विज्ञापन
Home » Economy » PolicyGovt mulls zero interest on timely crop loan repayment as new year gift

किसानों को सरकार का न्यू ईयर गिफ्ट, समय पर लोन चुकाने पर माफ हो सकता है ब्याज

crop loan पर मिल सकती है बड़ी सौगात, क्रॉप इन्श्योरेंस पर प्रीमियम से भी छूट

Govt mulls zero interest on timely crop loan repayment as new year gift

crop loan: सरकार 2019 में होने वाले आम चुनाव से पहले किसानों की कर्ज की समस्या को दूर करने के लिए समय पर कर्ज चुकाने वालों को ब्याज माफ करने की योजना पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, इससे सरकार पर सालाना 15,000 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा खाद्य फसलों के वास्ते बीमा पॉलिसी पर प्रीमियम से पूरी तरह छूट देने का भी प्रस्ताव है। इसमें हॉर्टीकल्चर फसलों पर प्रीमियम भी घटाया जा सकता है।

 

 

नई दिल्ली. सरकार 2019 में होने वाले आम चुनाव से पहले किसानों की कर्ज की समस्या को दूर करने के लिए समय पर कर्ज चुकाने वालों को ब्याज माफ करने की योजना पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, इससे सरकार पर सालाना 15,000 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा खाद्य फसलों के वास्ते बीमा पॉलिसी पर प्रीमियम से पूरी तरह छूट देने का भी प्रस्ताव है। इसमें हॉर्टीकल्चर फसलों पर प्रीमियम भी घटाया जा सकता है।

 

 

ब्याज से छूट देने पर विचार कर रही सरकार

केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार देश के तीन अहम राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हाल में हुए चुनाव में कांग्रेस के हाथों शिकस्त खाने के बाद एग्रीकल्चर सेक्टर की मुश्किलों को दूर करने की दिशा में सक्रिय दिख रही है। सूत्रों के मुताबिक, बीते दिनों में कई राउंड की मीटिंग के बाद उच्च स्तर पर बंपर उत्पादन के बीच कई फसलों पर किसानों की कम आमदनी को देखते हुए किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए एक योजना बनाई है।

 

 

अभी समय पर कर्ज चुकाने वालों को मिलता है 3 फीसदी इंसेंटिव

इस क्रम में किसानों को फौरी राहत देने के लिए निश्चित तारीख से पहले कर्ज लौटाने वाले किसानों को एग्री लोन पर 4 फीसदी ब्याज दर से छूट देने पर अध्ययन किया जा रहा है। वर्तमान में किसानों को 7 फीसदी ब्याज दर पर 3 लाख रुपए तक शॉर्ट टर्म लोन मिलता है। इस पर समय से रिपेमेंट करने वाले किसानों को 3 फीसदी इंसेंटिव दिया जा रहा है।

 

चालू वित्त वर्ष के लिए है 11 लाख करोड़ का लक्ष्य

सरकार ने चालू वित्त वर्ष में किसानों को 11 लाख करोड़ रुपए का कर्ज देने का लक्ष्य रखा है। बीते वित्त वर्ष में किसानों को 11.69 लाख करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया था, जो 10 लाख करोड़ रुपए के लक्ष्य से ज्यादा था।

 

सरकार पर पड़ सकता है 15 हजार करोड़ का अतिरिक्त बोझ

सरकार पर कृषि लोन के सामान्य मामलों में 2 फीसदी और समय से पेमेंट पर 5 फीसदी इंटरेस्ट सब्सिडी के एवज में सालाना 15,000 करोड़ रुपए का बोझ पड़ता है। सूत्रों ने कहा कि यदि समय पर कृषि लोन चुकाने पर ब्याज पूरी तरह माफ करने पर सरकार पर बोझ दोगुना बढ़कर 30,000 करोड़ रुपए तक पहुंच सकता है।

 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss