विज्ञापन
Home » Economy » PolicyGDP growth rate for 2017-18 revised upwards to 7.2 pc

वित्त वर्ष 2018 के लिए सरकार ने बढ़ाया GDP अनुमान, 7.2% रह सकती है ग्रोथ

बजट से एक दिन पहले सरकार ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान को बढ़ाकर 7.2 फीसदी कर दिया।

GDP growth rate for 2017-18 revised upwards to 7.2 pc

बजट से एक दिन पहले गुरुवार को सरकार ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान को बढ़ाकर 7.2 फीसदी कर दिया है, जो अभी तक 6.7 फीसदी था। सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस (Central Statistics Office) ने यह अनुमान जारी किया है।

नई दिल्ली. बजट से एक दिन पहले गुरुवार को सरकार ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान को बढ़ाकर 7.2 फीसदी कर दिया है, जो अभी तक 6.7 फीसदी था। सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस (Central Statistics Office) ने यह अनुमान जारी किया है।

 

CSO ने कहा, ‘वर्ष 2017-18 और 2016-17 के लिए रियल जीडीपी या कॉन्स्टैंट प्राइस (2011-12) पर जीडीपी क्रमशः 131.80 लाख करोड़ रुपए और 122.98 लाख करोड़ रुपए रहा है। इससे 2017-18 में 7.2 फीसदी और 2016-17 में 8.2 फीसदी ग्रोथ का पता चलता है।’ इससे पहले सीएसओ ने 2018-19 के लिए 7.2 फीसदी जीडीपी ग्रोथ का एडवांस्ड इस्टीमेट जारी किया था।

 

इसके साथ ही CSO ने 2017-18 के लिए राष्ट्रीय आय, उपभोग व्यय, बचत और पूंजी संचय का भी दूसरा रिवाइज्ड एस्टीमेट जारी किया है। वर्ष 2017-18 के दौरान प्राथमिक क्षेत्र की वृद्धि दर में कृषि, वन उद्योग, मछली पालन और खनन और उत्खनन आदि शामिल हैं। द्वितीयक क्षेत्रों में निर्माण, बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगी सेवाएं शामिल हैं। 

 

इसके अलावा तृतीयक क्षेत्र में सेवाओं को शामिल किया गया है। इनमें क्रमश: 6.8 फीसदी, 7.5 फीसदी और 8.4 फीसदी ग्रोथ का अनुमान लगाया गया है, जबकि पहले यह अनुमान क्रमशः 5 फीसदी, 6 फीसदी और 8.1 फीसदी था। 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss