Home » Economy » Policyforces demanded 1 lakh 60 thousand crore as capital outlay

सेना को डिमांड से 1.21 लाख करोड़ रु कम मिला बजट, संसद में दी गई जानकारी

सेना को इस बार बजट में उनकी हथियारों की खरीद के लिए मांगी गई राशि से 76,765 करोड़ रुपए कम एलाट किया गया है।

1 of

 

 

नई दिल्‍ली. आर्मी, नौ सेना और वायु सेना को इस बार बजट में उनकी हथियारों की खरीद के लिए मांगी गई राशि से 76,765 करोड़ रुपए कम अलाट किए गए हैं। तीनों सेनाएं नए हथियार, लड़ाकू विमान और अन्‍य तरह के हथियार खरीदना चाहती हैं।

 

 

सेनाओं ने की थी 1.60 लाख करोड़ रुपए की मांग

तीनाें सेनाओं ने इस बार बजट में 1.60 लाख करोड़ रुपए की कैपिटल आउटले की मांग की थी, लेकिन इसकी जगह पर उनको 83,434 करोड़ रुपए एलाट किया गया। यह जानकारी आज संसद में रखी गई। रक्षा राज्‍यमंत्री सुभाष भामरे ने यह जानकारी संसद में रखी। इस जानकारी में बताया गया है कि वहीं रेवेन्‍यु एक्‍पेंडिचर में मांग के अपेक्षा 35,371 करोड़ रुपए कम एलाट किया गया है। इस मद में सेनाओं का वेतन और अन्‍य जुड़े खर्चे पूरे होते हैं।

 

 

1.21 लाख करोड़ रुपए कम हुए एलाट

इन दोनों मांगों में कटौती से सेनाओं को उनकी मांग के अपेक्षा 1.21 लाख करोड़ रुपए कम एलाट हुए हैं। अपनी मांग की अपेक्षा कम बजट मिलने से सेनाओं में नाराजगी है। सेना का कहना है कि उनको नए हथियारों की तुरंत जरूरत है। देश को इस वक्‍त चीन और पाकिस्‍तान की तरफ से चुनौती मिल रही है।

 

 

पार्लियामेंट्री पैनल से जताई नाराजगी

आर्मी उपाध्‍यक्ष लेफ्टीनेंट जनरल सार्थ चांद ने पार्लियामेंट्री पैनल के सामने अपनी नाराजगी जताते हुए कहा कि इससे बढ़ती हुई रक्षा चुनौतियों से निपटने में दिक्‍कत आएगी। उन्‍होंने पैनल को जानकारी दी कि चीन और पाकिस्‍तान अपनी सेनाओं को पूरी मुस्‍तैदी से आधुनिक बना रहे हैं, जबकि आर्मी इमर्जेंसी में हथियारों की खरीद को दिक्‍कत महसूस कर रही है।

 

 

आर्मी को मिले 17,756 करोड़ रुपए कम

संसद में दी गई जानकारी के अनुसार आर्मी को कैपिटल आउटले में मांग के अनुरूप 17,756 करोड़ रुपए एलाट किया गया है। वही रेवेन्‍यु हेड की मांग के अनुरूप 24,755 करोड़ रुपए कम एलाट किया गया है।

 

 

नेवी को भी मांग से कम मिला

आंकड़ों के अनुसार नेवी को कैपिटल आउटले के रूप में मांग से 37,932 करोड़ रुपए कम एलाट किया गया है, वहीं रेवेन्‍यु हेड में मांग के अनुरूप 17,084 करोड़ रुपए कम दिया गया है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss