Home » Economy » PolicyQ4 में भारत की GDP रह सकती है 7.1 फीसदी, फिक्‍की ने जताया अनुमान Ficci survey says Q4 GDP growth seen at more than 7 per cent

Q4 में भारत की GDP रह सकती है 7.1 फीसदी, फिक्‍की ने जताया अनुमान

जनवरी से मार्च 2018 की तिमाही में भारत की GDP ग्रोथ 7.1 फीसदी रह सकती है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. जनवरी से मार्च 2018 की तिमाही में भारत की GDP ग्रोथ 7.1 फीसदी रह सकती है। यह अनुमान इंडस्‍ट्री बॉडी फिक्‍की ने जताया है। फिक्‍की के अनुसार वहीं वर्ष 2017-18 के दौरान भारत की GDP 6.6 फीसदी रह सकती है।

 

 

31 मई को जारी होंगे आंकड़ें

सेंट्रल स्‍टैटिक्‍स ऑफिस (सीएसओ) जीडीपी से जुड़े आंकड़े 31 माई को जारी करेगा। इसमें वर्ष 2017-18 के अलावा इस वर्ष की अंतिम तिमाही के जीडीपी आंकड़े भी जारी किए जाएंगे। अक्‍टूबर से दिसंबर की तीसरी तिमाही में जीडीपी 7.2 फीसदी रही थी।

 

 

चालू वित्‍तीय वर्ष में 7.4 फीसदी रह सकती है जीडीपी

इकोनॉमिस्‍ट से बातचीत के बाद तैयार फिक्‍की इकोनॉमिक आउटलुक सर्व में कहा गया है कि वर्ष 2018-19 के दौरान भारत की जीडीपी 7.4 फीसदी रह सकती है। सर्वे में इसकी रेंज 6.9 फीसदी से लेकर 7.5 फीसदी के बीच मानी गई है।

 

 

क्रूड की तेजी है दिक्‍कत

चेम्‍बर के इस सर्वे में कहा गया है वर्ष 2018-19 के दौरान ग्‍लोबल स्‍तर पर कुछ चिंताएं हैं, जिससे भारत का करंट अकाउंट डेफिसिट बढ़कर GDP का 2.1 फीसदी तक जा सकता है। इसका मुख्‍य कारण क्रूड में तेजी रहना है। इससे ग्रोथ प्रभावित हो सकती है।

 

 

कमजोर होते रुपए से भी बढ़ेंगी दिक्‍कतें

सर्वे के अनुसार लगातार कमजोर होते रुपए के चलते आयात के मोर्चे पर दिक्‍कतें बढ़ेंगी। सर्वे में इकोनॉमिस्‍टों ने अनुमान जताया कि रुपया आगे भी कमजोर रह सकता है।

 

संरक्षणवाद बढ़ रहा

सर्वे में जानकारों ने कहा है कि ग्‍लोबल स्‍तर कई बड़े देश संरक्षणवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। इससे भी भारत की ग्रोथ प्रभावित हो रही है। फिक्‍की के अनुसार इन जानकारों का मानना है कि भारत की अर्थव्‍यवस्‍था दुनिया से पूरी तरह से जुड़ी हुई है, ऐसे में ट्रेड वार का असर भारत पर अगर डायरेक्‍टली नहीं तो इनडायरेक्‍टली पड़ेगा ही।

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट