विज्ञापन
Home » Economy » PolicyCourt declares Mallya a fugitive economic offender

विजय माल्या भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित, अब जब्त हो सकेगी संपत्ति

माल्या बने देश के पहले भगोड़े आर्थिक अपराधी

Court declares Mallya a fugitive economic offender

आखिरकार विजय माल्या (Vijay Mallya) को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया गया। अब उनकी संपत्तियों को जब्त किए जाने का रास्ता साफ हो गया है। मुंबई में एक स्पेशल कोर्ट ने यह फैसला लिया और इस प्रकार विजय माल्या (Vijay Mallya) देश का पहला भगोड़े आर्थिक घोषित हो गया। 

 

मुंबई. आखिरकार विजय माल्या (Vijay Mallya) को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया गया। अब उनकी संपत्तियों को जब्त किए जाने का रास्ता साफ हो गया है। मुंबई में एक स्पेशल कोर्ट ने यह फैसला लिया और इस प्रकार विजय माल्या (Vijay Mallya) देश का पहला भगोड़े आर्थिक घोषित हो गया। एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (Enforcement Directorate) यानी ED की एक अपील पर यह फैसला लिया गया। भारतीय बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के बकाएदार इन दिनों देश से फरार हैं और लंदन में रह रहे हैं।

 

 

अगस्त में लागू हुआ था भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून

गौरतलब है कि बीते साल अगस्त में नया भगोड़े आर्थिक अपराधी कानून (Fugitive Economic Offenders Act) लागू हुआ था और इसके तहत माल्या देश का पहला आर्थिक अपराधी घोषित हो गया है। ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) कोर्ट से माल्या को भगोड़ा घोषित करने का अनुरोध किया था। साथ ही उनकी संपत्तियां जब्त करने और उन्हें नए एफईओ एक्ट के तहत केंद्र सरकार के कंट्रोल में लाने का अनुरोध किया था।

 

 

स्पेशल जज ने सुनाया फैसला

स्पेशल जज एम. एस. आजमी ने माल्या और ईडी के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद कानून के सेक्शन 12 के अंतर्गत माल्या को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया। माल्या पर लोन रिपेमेंट के डिफॉल्ट करने और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं। वह मार्च, 2016 में देश से भाग गए थे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन