विज्ञापन
Home » Economy » PolicyBhutan central bank tells public to deposit not hoard Indian currency

भूटान का सिटीजंस को अलर्ट, कहा-इंडियन करंसी को बैंक में रखें, घरों में नहीं

भूटान के रिजर्व बैंक ने अपने नागरिकों से अपील की है कि भारतीय मुद्रा को अपने पास रखने की बजाय बैंक में जमा कराएं।

Bhutan central bank tells public to deposit not hoard Indian currency
भूटान के रिजर्व बैंक ने अपने नागरिकों से अपील की है कि भारतीय मुद्रा को अपने पास रखने की बजाय बैंक में जमा कराएं। बैंक ने लोगों से कहा है कि अगर भारत फिर से अपनी करेंसी को डिमोनेटाइज करता है, तो वह जिम्‍मेदार नहीं होंगे।
 
नई दिल्‍ली. भूटान के केंद्रीय बैंक ने भारतीय करंसी को लेकर अपने सिटीजंस को अलर्ट किया है। भूटान के सिटीजंस से अपील की गई है कि भारतीय मुद्रा को अपने पास रखने की बजाय बैंकों में जमा कराएं। बैंक ने लोगों से कहा है कि अगर भारत फिर से अपनी करंसी को डिमोनेटाइज किया, तो वह जिम्‍मेदार नहीं होगा।  
 
 
रॉयल मॉनिटरी अथॉरिटी ने जारी की चेतावनी
भूटान के रिजर्व बैंक रॉयल मॉनिटरी अथॉरिटी (RMA) ने अपने नागरिकों को चेतावनी जारी करके कहा है कि अगर भारत के रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने अपनी पॉलिसी में कोई चेंज किया या फिर से नोटबंदी का फैसला लिया तो वह जिम्‍मेदार नहीं होगा। RMA ने यह बात पिछले हफ्ते अपने एक बयान में कही है।
 
25000 रुपए से ज्‍यादा न रखें
इस नोटिस में कहा गया है कि भूटान के नागरिक 500 के नए नोट में 25 हजार रुपए से ज्‍यादा अपने पास न रखें। 11 जून से यह नियम लागू किया गया है। RMA ने साथ ही सचेत किया है लोग 500 रुपए के बंद हो चुके नोट से सावधान रहें।
 
भारत ने की थी नोटबंदी
भारत में नवंबर 2016 में नोटबंदी लागू हुई थी। इसमें 500 और 1000 रुपए के नोट को बंद कर दिया गया था। इन करेंसी के डिमोनेटाइजेशन के बाद भूटान के लोगों को इस बदलने के लिए लम्‍बी लाइनों में लगना पड़ा था। बाद में भूटान की सरकार ने रोज केवल 50 लोगों के नोट बदलने का नियम लागू किया था।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन