Home » Economy » Policyafter 98 days Arun Jaitley became finance minister from union minister

98 दिनों के बाद केंद्रीय मंत्री से वित्त मंत्री हुए जेटली, कार्यभार संभाला

बीमारी की वजह से जेटली को मंत्रालय के कार्य से दूर होना पड़ा था।

after 98 days Arun Jaitley became finance minister from union minister

मनी भास्कर, नई दिल्ली।

 

98 दिनों तक सिर्फ केंद्रीय मंत्री रहने के बाद गुरुवार को अरुण जेटली एक बार फिर से वित्त मंत्री हो गए। बीमारी की वजह से जेटली को मंत्रालय के कार्य से दूर होना पड़ा था। इस साल 15 मई को वित्त मंत्रालय का कार्यभार रेलवे मंत्री पीयूष गोयल को दिया गया था। 15 मई से लेकर 21 अगस्त तक जेटली को सिर्फ केंद्रीय मंत्री के रूप में संबोधित किया गया। हालांकि इस दौरान जेटली सोशल मीडिया पर सक्रिय दिखे।

 

किसी भी बड़े फैसले से पहले जेटली से सलाह लेते थे गोयल

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक जेटली की बीमारी के दौरान गोयल ने वित्त मंत्रालय का कार्यभार जरूर संभाला, लेकिन किसी भी बड़े फैसले से पहले उन्होंने जेटली से परामर्श जरूर लिया। यहां तक कि किसी बड़ी बैठक से पहले भी गोयल जेटली के साथ विचार-विमर्श करते थे। गोयल अपने संबोधन में भी जेटली का नाम किसी न किसी रूप में जरूर लेते थे।

 

तमाम कयासों पर विराम

गुरुवार को जेटली के बतौर वित्त मंत्री कार्य भार संभालने के बाद तमाम कयासों पर विराम लग गए। अब तक मंत्रालय के गलियारों में यह चर्चा थी कि शायद गोयल को ही स्थायी तौर पर वित्त मंत्रालय का कार्यभार दे दिया जाएगा। यह भी चर्चा चल रही थी कि जेटली आने वाले चुनाव में पार्टी के लिए बड़ी जिम्मेदारी संभालेंगे।

 

लगभग चार माह तक दूर रहे जेटली मंत्रालय से

इस साल 14 मई को गोयल को रेलवे मंत्रालय के अलावा वित्त व कंपनी मामले के मंत्रालयों का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया था। 15 मई, 2018 गोयल ने वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी ली थी। बीमार होने की वजह से डॉक्टर ने जेटली को आराम करने की सलाह दी थी। मॉनसून सत्र में जेटली के संसद में पहुंचने के बाद ही तय हो गया था कि अब वे फिर से वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाल लेंगे।

 

यह भी पढ़ें, वित्त मंत्रालय का कार्यभार फिर जेटली के हवाले, चार माह बाद पहुंचेंगे नॉर्थ ब्लॉक

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट