Home » Economy » PolicyRoyal wedding in low budget

कम बजट में आप भी कर सकते हैं शाही शादी, 80 % तक की होगी बचत

किराए पर मनपसंद लहंगे और ज्वैलरी का बढ़ा है ट्रेंड

1 of

नई दिल्ली। भारतीय शादी में काफी खर्च होता है। शादी के मौके पर कोई भी किसी भी चीज से कॉम्प्रोमाइज नहीं करना चाहता। लिहाजा शादी का बजट बढ़ जाता है। दूल्हा-दुल्हन के परिधानों से लेकर ज्वैलरी पर तो सबसे ज्यादा खर्च किया जाता है। शादी की हर रस्म के लिए अलग ड्रेस की खरीदारी की जाती है। हालांकि यह परिधान सिर्फ शादी के दिनों की ही शोभा बढ़ाते हैंबाद में हमेशा के लिए अलमीरा में शो-पीस बनकर रह जाते हैं। शायद ही उन्हें दोबारा पहना जाता हो। इसीलिए अब एक नया ट्रेंड शुरू हो गया हैजिसके जरिए दूल्हा-दुल्हन शादी की हर रस्म में अपने मनपसंद का परिधान भी पहनते हैं अौर उनका बजट भी नहीं बिगड़ता। अाजकल किराए पर एक से बढ़कर एक डिजायनर ड्रेसेज और ज्वेलरी मिलती हैं। इससे एक तो दूल्हा-दुल्हन की महंगी ड्रेस पहनने की इच्छा पूरी हो जाती है और दूसरा पैसे की भी काफी बचत होती है। अगर आप भी अपनी शादी में महंगा लहंगा पहनना चाहती हैं, जिसे आप अधिक कीमत की वजह से खरीदना नहीं चाहतीं, तो आप उसे किराए पर भी ले सकती हैं।

50 हजार का लहंगा सिर्फ हजार में

ब्राइडल लहंगे के कारोबारी अमित बताते हैंबाजार में जिस लहंगे की कीमत 50 हजार है उसे किराए पर लेने के लिए सिर्फ हजार रुपए ही चुकाने होंगे। उसमें भी बाद में लहंगे वापस करने पर 10 से 15 फीसदी रकम वापस मिल जाता है। वहीं अगर आप बाजार से कपड़े खरीद कर लहंगा सिलवाना चाहती हैं तो उस पर आपको अधिक रुपए चुकाने पड़ जाते हैं। वे कहते हैं, 'लहंगे का कपड़ा काफी हैवी होता है। कपड़े और वर्क के अनुसार कीमत तय की जाती है। कम से कम 15 से 25 हजार तक में आपको लहंगे के लिए कपड़े मिलेंगे जिसे सिलाने पर से हजार रुपए खर्च करने पड़ते हैं। वहीं दूल्हे के लिए शेरवानी सिलाने पर कुल खर्च 20 हजार तक आता हैऐसे में किराए पर लेना काफी सस्ती डील माना जा रहा है। सिर्फ लहंगे ही नहीं अगर आप शादी में पहने के लिए हैवी साड़ी किराए पर लेना चाहते हैं तो वह भी उपलब्ध है। 10,000 की टैग वाली साड़ी को आप महज 2000 रुपए में किराए पर ले सकती हैं।

 

आगे पढ़ें80 फीसदी तक हो सकती है बचत

 

 

80 फीसदी तक हो सकती है बचत

लहंगा ऑर्नामेंट्स डॉट कॉम के मालिक गौरव बताते हैं, 'शादी की ड्रेस केवल एक बार ही पहनी जाती है। उसके लिए 40-50 हजार रुपये खर्च करना एक ऐसा इनवेस्टमेंट हैजो वापस नहीं होता।’ किराए पर मनपसंद डिजाइनर लहंगों पर 80 फीसदी तक बचत की जा सकती है।


हर इस्तेमाल के बाद होते हैं ड्राइक्लीन

गौरव बताते हैंचार दिन के लिए इन परिधानों के किराए की रेंज 2,000 से 20,000 के बीच है। वे कहते हैं, ‘यह अब ट्रेंड के साथ पॉपुलर होता जा रहा है। ये आउटफिट देखने में बिल्कुल नए लगते हैं। हर इस्तेमाल के बाद इनकी ड्राइक्लीनिंग करायी जाती है।'

 

ज्वैलरी भी रेंट पर लें

शादी में पहने के लिए हैवी ज्वैलरी आप खरीदने की बजाय रेंट पर ले सकती है। 10 हजार तक की ज्वैलरी रेंट पर आपको से हजार रुपए में मिल जाएंगे।


आगे पढ़ें यहां मिलेगा किराए पर लहंगा और शेरवानी

 

यहां मिलेगा किराए पर लहंगा और शेरवानी

 

अगर आप किराए पर लहंगा व शेरवानी लेना चाहते हैं तो इसके लिए दिल्ली का मार्केट सबसे बेस्ट माना जाता है। यहां पटेल नगर से लेकर मॉडल टाउन तक और चांदनी चौक से गाजियाबाद तक के बाजारों में इस तरह की रेंटल शॉप्स मौजूद हैं। जहां न केवल कपड़े की फिटिंग का ख्याल रखा जाता हैबल्कि वे आपके अनुरोध पर स्पेशल पीस भी तैयार कर देते हैंजिसका थोड़ा ज्यादा किराया होता है।

 

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट