विज्ञापन
Home » Economy » PolicyYou can challenge any vote in just 2 rupees

मात्र 2 रुपए में चैलेंज किया जा सकता है किसी भी व्यक्ति का वोट, ये है प्रक्रिया

फर्जी वोटिंग रोकने के लिए अपनाई जाती है यह प्रक्रिया

1 of

नई दिल्ली। इस समय देश में लोकसभा चुनावों की प्रक्रिया पूरे जोर-शोर से चल रही है। 1 अप्रैल को पहले चरण का मतदान हो चुका है। अब  18 अप्रैल को दूसरे चरण के लिए वोट डाले जाएंगे। आज हम आपके लिए चुनाव से जुड़ी एक खास जानकारी लेकर आए हैं जिसके जरिए आप किसी भी व्यक्ति के वोट को चैलेंज कर सकते हैं। 

वोट डालने से पहले करना होता है चैलेंज
पोलिंग बूथ पर वोटर की पहचान करने और फर्जी वोटिंग रोकने के लिए चुनाव आयोग कई प्रकार के प्रबंध करता है। इसके अलावा चुनाव आयोग पार्टियों के पोलिंग एजेंट समेत अन्य लोगों को चैलेंज्ड वोट की सुविधा देता है। इसके तहत पोलिंग एजेंट या वहां मौजूद अन्य लोग वोट डालने से पहले किसी भी वोटर के वोट को चैलेंज कर सकते हैं। इसके लिए पीठासीन अधिकारी को दो रुपए की फीस जमा करनी होती है। इसके बाद पीठासीन अधिकारी इस चैलेंज की जांच करता है। चैलेंज सही पाए जाने पर फर्जी मतदाता को लिखित शिकायत के साथ पुलिस को सौंप दिया जाता है। चैलेंज गलत निकलने पर वोटर को मतदान की अनुमति दी जाती है। 

एएसडी सूची में नाम होने पर ऐसे करें वोट


चुनाव आयोग की ओर से अनुपस्थित, स्थानांतरित या मृत वोटरों के लिए अलग से एएसडी सूची बनाई जाती है। यदि आपका नाम भी इस सूची आ गया है तो भी आप वोट दे सकते हैं। इसके लिए आपको फॉर्म 17ए भरकर जमा करना होगा। यह फॉर्म पीठासीन अधिकारी के पास उपलब्ध होता है। 

क्या होता है रिफ्यूज्ड टू वोट


किसी भी प्रत्याशी के पसंद नहीं आने पर चुनाव आयोग मतदाताओं को नोटा का विकल्प देता है। लेकिन कई मतदाता कंट्रोल यूनिट का बटन दबने के बाद किसी को भी वोट नहीं देना चाहते हैं। इस स्थिति में पीठासीन अधिकारी ऐसे वोटरों के नाम के आगे रिफ्यूज्ड टू वोट लिख देता है। ऐसे वोटरों की जानकारी 17सी रजिस्टर में भी दर्ज की जाती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन