बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyदिसंबर में थोक महंगाई घटकर 3.58% पर; खाने-पीने की चीजों के दाम घटे, फ्यूल हुआ महंगा

दिसंबर में थोक महंगाई घटकर 3.58% पर; खाने-पीने की चीजों के दाम घटे, फ्यूल हुआ महंगा

खाने-पीने की चीजों के दाम गिरने से थोक महंगाई दर दिसंबर 2017 में 3.58 फीसदी पर दर्ज की गई।

1 of

नई दिल्‍ली. दिसंबर में थोक महंगाई तीन महीने में सबसे कम रही। खाने-पीने की चीजों के दाम गिरने से थोक महंगाई दर दिसंबर 2017 में 3.58 फीसदी की तेजी देखने को मिली। हालांकि, फ्यूल की कीमतों में तेजी दर्ज की गई। नवंबर में यह आंकड़ा 3.93 फीसदी पर था, जबकि दिसंबर 2016 में थोक महंगाई 2.10 फीसदी पर थी। 

पिछले हफ्ते जारी रिटेल महंगाई के आंकड़े देखें तो यह रिजर्व बैंक के कम्‍फर्ट लेवल से ऊपर जा चुकी है। दिसंबर 2017 में रिटेल महंगाई 5.21 फीसदी पर पहुंच गई। रिटेल महंगाई में तेजी फूड आर्टिकल्‍स खासकर सब्जियों की खुदरा कीमतों में तेजी के चलते आई थी। रिजर्व बैंक पॉलिसी दरों पर फैसला करते समय रिटेल महंगाई को ध्‍यान में रखता है। रिजर्व बैंक ने दिसंबर में आई अपनी पिछली पॉलिसी में ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था। 

 


सब्जियों की महंगाई घटी, प्‍याज की बढ़ी 

सरकार की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, खाने-पीने की चीजेां की महंगाई दिसंबर में गिरकर 4.72 फीसदी पर  आ गई, जो निवंबर में 6.06 फीसदी पर थी। सब्जियों की महंगाई दिसंबर में 56.46 फीसदी रही, जबकि नवंबर में यह 59.80 फीसदी पर दर्ज की गई थी। हालांकि पिछले महीने प्‍याज की कीमतों में तेजी रही। प्‍याज की थोक महंगाई 197.05 फीसदी पर पहुंच गई, नवंबर में यह 178.19 पर थी।  थोक महंगाई दर सूचकांक (WPI) में  फूड आर्टिकल्‍स की हिस्‍सेदारी 15.26 फीसदी और प्राइमरी आर्टिकल्‍स की हिस्‍सेदारी 22.62 फीसदी है। 

 

अंडा, मछली के थोक भाव गिरे, फलों के बढ़े 

प्रोटीन वाले प्रोडक्‍ट अंडा, मीट और मछली की थोक महंगाई दिसंबर में गिरकर 1.67 फीसदी पर आ गई, जो नवंबर में 4.73 फीसदी पर थी। दूसरी ओर, फलों की महंगाई बढ़ गई। फलों की थोक महंगाई दर 11.99 फीसदी पर पहुंच गई, जो नवंबर में 4.19 फीसदी थी। 

 

फ्यूल भी हुआ महंगा 

आंकड़ों के अनुसार, फ्यूल एंड पावर सेगमेंट की थोक महंगाई दर दिसंबर में बढ़कर 9.16 फीसदी हो गई। नवंबर में यह 8.82 फीसदी पर थी। मैन्‍यूफैक्‍चर्ड प्रोडक्‍ट की महंगाई में कोई बदलाव नहीं हुआ और यह दिसंबर में भी 2.61 फीसदी पर रही। WPI में मैन्‍युफैक्‍चर्ड प्रोडक्‍ट्स की हिस्‍सेदारी 64.23 फीसदी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट