बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyहार्ले-डेविडसन पर हाई इम्‍पोर्ट ड्यूटी से ट्रम्‍प नाराज, US में भारतीय बाइक्‍स पर भी टैरिफ बढ़ाने की दी धमकी

हार्ले-डेविडसन पर हाई इम्‍पोर्ट ड्यूटी से ट्रम्‍प नाराज, US में भारतीय बाइक्‍स पर भी टैरिफ बढ़ाने की दी धमकी

ट्रम्‍प ने हार्ले डेविडसन बाइक पर हाई इम्‍पोर्ट ड्यूटी लगाने के भारत के फैसले पर नाराजगी जताई।

1 of

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्‍ड ट्रम्‍प ने हार्ले डेविडसन बाइक पर हाई इम्‍पोर्ट ड्यूटी लगाने के भारत के फैसले पर नाराजगी जताई और इसे गलत बताया है। ट्रम्‍प ने भारत को भी धमकी दी कि अमेरिका भी अपने यहां इम्‍पोर्ट होने वाली भारतीय मोटरसाइकिलों पर इम्‍पोर्ट ड्यूटी बढ़ा देगा। ट्रम्‍प ने कांग्रेस सदस्यों के साथ स्टील इंडस्ट्री पर डिस्‍कशन के दौरान यह चेतावनी दी। हालांकि, भारत ने महंगे ब्रांड की विदेशी बाइक पर इम्‍पोर्ट ड्यूटी घटाकर 50 कर दिया है।

 

अमेरिका की तरह सिस्‍टम करे भारत

ट्रम्‍प ने कहा कि इम्‍पोर्ट ड्यूटी को 75 फीसदी से घटाकर 50 फीसदी करने का भारत सरकार का हाल का फैसला पर्याप्त नहीं है। ट्रम्‍प ने कहा कि इसे एक-दूसरे के अनुकूल होना चाहिए। यानी जिस तरह की अमेरिकी व्यवस्था है वैसा ही भारत को करना चाहिए। ट्रम्‍प का इशारा मोटरसाइकलों के इम्‍पोर्ट पर 'जीरो टैक्स' की तरफ था। 

 

 

मोदी के साथ हुई बाचतीच का कि‍या उल्‍लेख

उन्‍होंने कहा कि‍ ऐसे कई देश हैं जहां हम प्रोडक्‍ट बनाते हैं, हम इन देशों में जाने के लि‍ए बेहद ज्‍यादा टैक्‍स का भुगतान करते हैं। मोटरसाइकि‍ल जैसे हार्ले डेवि‍डसन चुनिंदा देशों में है। मैं इस मामले को भारत पर नहीं लेकर जा रहा। इतना ही नहीं, ट्रम्‍प ने अप्रत्‍यक्ष तरीके से इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई हालि‍या बातचीत का उल्‍लेख कि‍या। एक महान व्यक्‍ति‍ ने भारत से मुझे कॉल कि‍या और उन्‍होंने कहा कि‍ हमने मोटरसाइकि‍ल्‍स पर टैरि‍फ को 75 फीसदी और शायद फीसदी से घटाकर 50 फीसदी कर दि‍या है। 
 

ट्रम्‍प ने फि‍ट उठाई रेसि‍प्रोकल टैक्‍स लगाने की बात

उन्‍होंने वि‍धि‍ नि‍र्माताओं और अन्‍य कैबि‍नेट साथि‍यों को बताया कि‍ हार्ले डेवि‍डसन पर 50 से 75 फीसदी टैक्‍स लगता है तब जाकर लोगों को मोटरसाइकि‍ल मि‍लती है। इसके बाद भी वह हजारों मोटरसाइकि‍ल्‍स बेच रहे हैं और भारत में बहुत से लोगों को पता भी नहीं है कि‍ यह अमेरि‍का से आ रही है।
 
क्‍या आपको पता है कि‍ हमारा टैक्‍स कि‍तना? नहीं। ट्रम्‍प ने एक बार फि‍र उन देशों पर रेसि‍प्रोकल टैक्‍स (जैसा दूसरी जगह, वैसा यहां) लगाने पर जोर दि‍या जो अमेरि‍का के साथ अपने व्‍यापार रि‍श्‍तों का अपमान कर रहे हैं।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट