Home » Economy » Policyif Schools can deny admission for lack of Aadhaar

बड़ी राहतः आधार के नाम पर बच्चों को एडमिशन से इनकार नहीं कर सकते स्कूल

UIDAI ने कहा- जब तक आधार नहीं बन जाता तब तक बच्चों को वैकल्पिक दस्तावेजों के जरिए दी जाएं सुविधाएं

if Schools can deny admission for lack of Aadhaar
 
नई दिल्ली। आधार को गवर्न करने वाली सवोच्च संस्था UIDAI ने साफ कर दिया है कि आधार नहीं होने के नाम पर कोई भी स्कूल किसी भी बच्चे को एडमीशन देने से इनकार नहीं कर सकता है। संस्था ने साफ किया कि अगर इस आधार पर किसी बच्चे को एडमीशन देने से इनकार किया जाता है तो यह गैर कानूनी है। माना जा रहा है कि UIDAI का यह कदम  उन अभिभावकों और छात्रों के लिए एक बड़ी राहत है, जिन्हें आधार नहीं होने के चलते स्कूल एडमीशन देने से इनकार करते आ रहे हैं।  UIDAI ने कहा कि ऐसे बच्चों को जब तक आधार नहीं बन जाता तब तक उन्हें अन्य वैकल्पिक दस्तावेजों के जरिए जरूरी सुविधाएं दी जाएं।  

 
साथ ही UIDAI ने स्कूलों से आह्वान किया है कि वो आधार पंजीरकण और अपडेशन के लिए अपने परिसर में कैंप लगाने में लोकल बैंक, पोस्ट ऑफिस, स्टेड एजुकेशन डिपार्टमेंट तथा डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन का सहयोग करें। 
 
सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के लिए जारी सर्कुलर में UIDAI ने कहा कि उसे पता चला है कि आधार नहीं होने के चलते बहुत से स्कूल बच्चों को एडमीशन देने से इनकार कर रहे हैं। आप इस बात को सुनिश्चित करें कि किसी भी बच्चों को आधार की गैर-मौजूदगी के नाम पर एडमीशन देने से कोई भी स्कूल इनकार नहीं करे। 
 
इस तरह का इनकार पूरी तरह से गैर कानूनी है। कानून के तहत किसी को भी ऐसा करने की इजाजत नहीं है। आधार को जारी करने वाली संस्था ने कहा है कि आधार नहीं होने के नाम पर किसी भी बच्चे को एडमीशन समेत अन्य जरूरी सुविधाओं से महरूम नहीं किया जा सकता है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट