विज्ञापन
Home » Economy » PolicyUIDAI changed fee rules for aadhar updation and moderation

1 जनवरी से बदल गए हैं आधार से जुड़े यह नियम, आप भी जरूर जान लें

UIDAI के इन नियमों का उल्लंघन करना गैरकानूनी है।

1 of

नई दिल्ली। यूनिक आइडेंटिफिटेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) समय-समय पर आधार से जुड़े नियमों में बदलाव करती रहती है। नियमों में यह बदलाव आम आदमी के फायदे के लिए किए जाते हैं। अब एक बार फिर UIDAI ने आम आदमी के हित में आधार नियमों में बदलाव किया है। यह नियम 1 जनवरी 2019 से लागू हो गए हैं। इन नियमों के लागू होने के बाद आम लोगों को आधार में किसी भी प्रकार के बदलाव कराना आसान हो गया है। आइए जानते हैं कि UIDAI ने किन नियमों में बदलाव किया है।

 

इन नियमों में हुआ बदलाव
UIDAI की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, 1 जनवरी 2019 से आधार में होने वाले बदलाव के लिए ली जाने वाली फीस बदल गई है। UIDAI के अनुसार, अब उपभोक्ताओं को प्रत्येक सफल आधार जेनरेशन और आवश्यक बायोमीट्रिक अपडेट के लिए 100 रुपए की फीस देनी होगी। इसके अलावा डेमोग्राफिक या बायोमीट्रिक या दोनों बदलावों के लिए के लिए 50 रुपए देने होंगे। इसके अलावा ई-केवाईसी या A-4 साइज के पेपर पर आधार के कलर प्रिंटआउट के लिए उपभोक्ताओं को 30 रुपए देने होंगे। UIDAI के अनुसार, इससे अधिक फीस लेना गैरकानूनी होगा। 

प्लास्टिक कार्ड के इस्तेमाल से चोरी हो सकता है डाटा


अगर आप भी प्लास्टिक आधार कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर भी आपके लिए बहुत जरूरी है। यदि आपने भी अपने आधार कार्ड पर लैमिनेशन करा रखा है तो आपको सावधान रहने की जरूरत है। दरअसल मामला यह है कि लैमिनेशन कराने से आपके आधार का क्यूआर कोड काम करना बंद कर देता है। जिससे आपकी निजी जानकारी चोरी हो सकती है। यूनिकआईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने लोगों द्वारा इसके इस्तेमाल किए जाने पर चिंता जताई है। UIDAI का कहना है कि प्लास्टिक आधार कार्ड का इस्तेमाल करने से डाटा लीक होने की आशंका काफी ज्यादा रहती है। 

प्लास्टिक का आधार पूरी तरह से व्यर्थ:  पांडे


आधार एजेंसी की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'इसके अलावा यह भी संभावना है कि आप की मंजूरी के बिना ही गलत जगहों तक आपकी निजी जानकारी साझा हो जाए।' यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे ने कहा कि प्लास्टिक का आधार स्मार्ट कार्ड पूरी तरह से गैर-जरूरी और व्यर्थ है। सामान्य कागज पर डाउनलोड किया गया आधार कार्ड या फिर मोबाइल आधार कार्ड पूरी तरह से वैलिड है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन