Home » Economy » Policyhybrid model in aushmaan scheme

आयुष्मान भारत स्कीम: 20 राज्यों ने अपनाया ट्रस्ट मॉडल, 8 राज्यों में होगा हाइब्रिड मॉडल

10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपए तक के इलाज की मुफ्त सुविधा दी जाएगी।

hybrid model in aushmaan scheme

नई दिल्ली। देश भर में आयुष्मान स्कीम लागू करने को लेकर राज्यों को बीमा कंपनियों पर भरोसा नहीं है। इसी वजह से 20 राज्यों ने इस स्कीम को ट्रस्ट मॉडल पर लागू करने का फैसलाा किया है। वहीं 8 राज्यों ने अपने यहां आयुष्मान भारत स्कीम हाइब्रिड मॉडल पर लागू करने का फैसला किया है। आयुष्मान भारत स्कीम 25 सितंबर से पूरे देश में लागू हो रही है। इस स्कीम के तहत देश के लगभग 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपए तक के इलाज की मुफ्त सुविधा दी जाएगी। 

 

ट्रस्ट मॉडल में क्या होगा

 

सूत्रों के मुताबिक देश के 20 राज्यों ने आयुष्मान स्कीम ट्रस्ट मॉडल पर लागू करने का फैसला किया है। यानी इसमें बीमा कंपनियों की कोई भूमिका नहीं होगी। राज्य आयुष्मान स्कीम के लिए एक ट्रस्ट बनाएंगे और आयुष्मान स्कीम के तहत लोगों के इलाज पर आने वाले खर्च का भुगतान इस ट्रस्ट से किया जाएगा। देश के ज्यादातर राज्य इसी मॉडल पर स्कीम को लागू करना चाहते हैं। 

 

इाइब्रिड मॉडल में क्या होगा 

 

सूत्रों के मुताबिक देश के 8 राज्यों ने आयुष्मान स्कीम को हाइिब्रड मॉडल पर लागू करने का फैसला किया है। हाइब्रिड मॉडल में इन्श्योरेंस और ट्रस्ट दोनों मॉडल होता है। उदाहरण के लिए अगर आयुष्मान स्कीम के तहत किसी लाभार्थी ने इलाज कराया तो 1 लाख रुपए तक के खर्च का भुगतान बीमा कंपनी करेगी। वहीं इलाज का खर्च 1 लाख रुपए से अधिक है तो इसका भुगतान ट्रस्ट से किया जाएगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट