विज्ञापन
Home » Economy » PolicySpecial arrangements for Kumbh Mela 2019

कुंभ मेले में 600 किचन में बनाया जाएगा 15 करोड़ श्रद्धालुओं का खाना

श्रद्धालुओं के लिए 100,000 पोर्टेबल टाॅयलेट, विशाल तंबू लगाए जाएंगें

Special arrangements for Kumbh Mela 2019

 

विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है कुंभ मेला, जहां देश के विभिन्न हिस्सों से हिंदू एवं अन्य धर्म के लोग आते हैं एवं पवित्र नदी में स्नान करते हैं। यह मेला मानवता की दुनिया की सबसे बड़ी सभा है, जो अगले महीने शुरू हो रही है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में आयोजित कुंभ मेला के दौरान नागा साधु सहित कराेड़ों तीर्थयात्री गंगा, यमुना और एक पौराणिक तीसरी नदी, सरस्वती के संगम पर स्नान करेंगे। 

नई दिल्ली। विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है कुंभ मेला, जहां देश के विभिन्न हिस्सों से हिंदू एवं अन्य धर्म के लोग आते हैं एवं पवित्र नदी में स्नान करते हैं। यह मानवता की दुनिया की सबसे बड़ी सभा है, जो अगले महीने शुरू हो रही है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में आयोजित कुंभ मेला के दौरान नागा साधु सहित कराेड़ों तीर्थयात्री गंगा, यमुना और एक पौराणिक तीसरी नदी, सरस्वती के संगम पर स्नान करेंगे। 

 

आठ सप्ताह तक चलने वाली इस 15 करोड़ श्रद्धालु आ सकते हैं

 

सरकार का कहना है, आठ दिनों तक चलने वाली इस पावन मेले में इस साल कुंभ में तकरीबन 12 से 15 करोड़ श्रद्धालु आ सकते हैं। इनमें दस लाख विदेशी पर्यटक शामिल होंगे। इस बार तीर्थयात्रियों को खिलाने और ठहरने का इंतजाम भी विशाल स्तर पर किया जा रहा है।

 

जानिए कुंभ का क्या है पूरा इंतजाम

इस बार कुंभ में आयोजकों की तरफ से 600 बड़ी रसोई, 100,000 पोर्टेबल टाॅयलेट, विशाल तंबू उपलब्ध कराए जाएंगे। यात्रियों की सुरक्षा के लए विशेष इंतजाम किए गए हैं। इसके साथ ही कई कंपनियां यहां लग्जरी टेंट भी लगा रही हैं। 

 

पर्यटकों को लुभाने के लिए की गई है ये व्यवस्था

कुंभ क्षेत्र में पर्यटन विभाग की ओर से विकसित किए जा रहे 'संस्कृति ग्राम' में सभ्यता और संस्कृति नजर आएगी। जिसे बंगाल के कलाकार आकार देने में जुट गए हैं। संस्कृति ग्राम में हजारों साल पुरानी सिन्धु सभ्यता की झलक तो मिलेगी ही आधुनिक भारत की तस्वीर भी यहां देखी जा सकेगी। सात करोड़ चालीस लाख की लागत से यह करीब आठ एकड़ क्षेत्र में 31 दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। कुंभ क्षेत्र में बसाए जा रहे संस्कृति ग्राम में बौद्ध और जैन धर्म के साथ मुगल सल्तनत के देश में विस्तार, वैदिक युग के साथ ब्रिटिश शासन, मराठा साम्राज्य, स्वतंत्रता संग्राम और शहीदों की ऐतिहासिक और साहसिक कहानियों को भी चित्रों और चलचित्रों के माध्यम से दिखाया जाएगा। इसमें स्वतंत्र भारत और आधुनिक भारत पर लघु फिल्में भी दिखाई जाएगी। कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पहली बार हो रहे इस आयोजन में भारतीय संस्कृति और सभ्यता को डिजिटल फॉर्म में ओपन थिअटर के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन