विज्ञापन
Home » Economy » PolicySBI, Bank of Baroda savings accounts: minimum balance rules, penalty explained

सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस को लेकर SBI और Bank of Baroda ने कर दिए बदलाव, हर शहर के लिए अलग-अलग नियम

SBI और Bank of Baroda के नए नियम से छोटे शहरों के ग्राहकों को मिलेगी राहत

1 of

नई दिल्ली। SBI और Bank of Baroda ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस को लेकर निमय में बदलाव किए हैं। अब आपके सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि इस बात पर निर्भर करेगी कि आप किस शहर में रहते हैं या आप जहां रहते हैं वह इलाका शहरी है या ग्रामीण। बैंकों के नियम के मुताबिक सेविंग अकाउंट में एक मिनिमम बैलेंस रखना पड़ता है नहीं तो बैंक आपसे पेनाल्टी लेते हैं। महीने के ह र दिन आपके सेविंग अकाउंट में कितनी राशि थी इस आधार पर मिनिमम बैलेंस का औसत निकाला जाता है जिसके आधार पर बैंक पेनाल्टी चार्ज करता है।

 

मेट्रो शहर में है तो आपको अपने खाते में कम से कम 3000 रुपए रखने होंगे

SBI (भारतीय स्टेट बैंक) ने मेट्रो में शामिल शहरों के लिए अलग तो अन्य शहरों के लिए अलग मिनिमम बैलेंस तय किया है। ग्रामीण इलाकों के लिए यह राशि अलग होगी। यानी कि अगर आपका खाता स्टेट बैंक के मेट्रो शहर में है तो आपको अपने खाते में कम से कम 3000 रुपए रखने होंगे। अन्य शहरों के लिए यह राशि 2000 रुपए तय की गई है। लेकिन आपका खाता ग्रामीण इलाके की शाखा में है तो आपको अपने सेविंग अकाउंट में सिर्फ 1000 रुपए रखने होंगे।

SBI की वेबसाइट पर जाकर इस संबंध में पूरी जानकारी ली जा सकती है। अभी मेट्रो शहर के खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं रहने पर 10-15 रुपए प्रतिमाह के हिसाब से पेनाल्टी चार्ज किया जाता है। वहीं अन्य शहरों के लिए यह पेनाल्टी राशि 7.5-12 रुपए के बीच होती है। ग्रामीण इलाके के लिए यह चार्ज 5-10 रुपए हैं। पेनाल्टी पर जीएसटी भी लगता है।

यह भी पढ़ें : 

SBI का होमलोन हुआ सस्ता, 0.05% घटाई MCLR, 10 अप्रैल से लागू होंगी नई दरें

बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक एवं देना बैंक के ग्राहक किसी भी समस्या के लिए इस नंबर पर कर सकते है कॉल

Bank of Baroda में विजया बैंक और देना बैंक के विलय के बाद यह देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है

 

Bank of Baroda में विजया बैंक और देना बैंक के विलय के बाद यह देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है और एक फरवरी, 2019 से बैंक ने मिनिमम बैलेंस के नियम में बदलाव किया है।  Bank of Baroda ने मिनिमम बैलेंस के नाम पर शहर और ग्रामीण इलाकों के लिए अलग-अलग राशि तय की है। मेट्रो एवं अन्य शहरों के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा के सेविंग अकाउंट में कम से कम 2000 रुपए होने चाहिए जबकि अगर आपका खाता ग्रामीण इलाके में है तो खाते में कम से कम औसतन 1000 रुपए होने चाहिए। मेट्रो एवं अन्य शहरी इलाकों के खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं होने पर 200 रुपये का जुर्माना है। गैर शहरी इलाकों के लिए जुर्माने की राशि 100 रुपए निर्धारित की गई है।

 

यह भी पढ़ें : 

1 मई से सस्ता हो जाएगा 1 लाख रुपए से ज्यादा का कर्ज, SBI के इस ऑफर से आप भी उठा सकते हैं लाभ

 

1 अप्रैल से विजया बैंक और देना बैंक को बैंक ऑफ बड़ौदा में मर्ज कर दिया गया है।

 

1 अप्रैल से विजया बैंक और देना बैंक को बैंक ऑफ बड़ौदा में मर्ज कर दिया गया है। आने वाले समय में और भी कई बैंक को एक साथ मर्ज करने की कवायद चल रही है। हालांकि जन-धन अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि निर्धारित नहीं है और इस अकाउंट होल्डर्स को मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर कोई जुर्माना नहीं देना पड़ता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन