Home » Economy » Policyसऊदी अरब कतर सलवा नहर Saudi Salwa Canal tourism project

पहले बंद किया हुक्‍का, अब इस मुस्लिम देश को पानी से मारेगा सऊदी अरब

पड़ोसी देश कतर को सबक सिखाने के लिए सऊदी अरब ने नया प्‍लान बनाया है। इसके तहत वह बॉर्डर पर नहर बनाएगा..

1 of

 

नई दिल्‍ली।  सऊदी अरब और कतर एक बार फिर से चर्चा में हैं। दरअसल सऊदी अरब ने कतर को सबक सिखाने के लिए नया रास्‍ता ईजाद किया है। उसने दोनों देशों की सीमा बंद करने के लिए 60 किलोमीटर लंबी नहर बनाने का प्‍लान बनाया है। कतर और सऊदी अरब के बीच आतंकवाद के मसले पर विवाद चला रहा है। सऊदी अरब कतर के साथ अपने राजनयिक रिश्‍ते पूरी तरह से खत्‍म कर चुका है। सऊदी अरब की शह पर बहरीन, संयुक्त अरब अमीरात और मिस्र ने भी कतर का हुक्‍का पानी बंद कर‍ दिया। पूरा विवाद पिछले साल जून में शुरू हुआ था। सऊदी अरब का आरोप है कि कतर उसके घरेलू मामलों में दखल दे रहा है। कतर पर आतंकी संगठनों को मदद देने के साथ ही ईरान से करीबी  बढ़ाने के आरोप भी लगे हैं। 75 करोड़ डॉलर की लागत वाले इस नहर प्रोजेक्‍ट को सऊदी सरकार वाटर टूरिस्‍ट प्रोजेक्‍ट बता रही है।  

सीमा पर नहर बनाने का प्‍लान 
गल्‍फ न्‍यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, सबक सिखाने के लिए सऊदी अरब कतर से लगने वाली 60 किलोमीटर लंबी सीमा पर 200 मीटर चौड़ी नहर बनाएगा। इसके चलते सऊदी अरब और कतर जमीनी रास्‍ते से एक-दूसरे से अलग हो जाएंगे। इस पूरे प्रोजेक्‍ट को सलवा नहर प्राजेक्‍ट का नाम दिया गया है। इस प्रोजेक्‍ट को सऊदी सरकार ने मंजूरी नहीं दी है, लेकिन आशंका है कि इसे जल्‍द ही मंजूरी मिल सकती है। 

 

...तो टापू में तब्‍दील हो जाएगा कतर 
तीन ओर से पानी से घिरा होने के चलते कतर की  सबसे बड़ी सीमा सऊदी अरब के साथ ही लगती है। इसके अलावा बहरीन और यूएई के साथ उसकी सीमा का थोड़ा हिस्‍सा लगता है। अगर सऊदी अरब यह नहर बना लेता है तो कतर टापू में तब्‍दील हो सकता है। बता दें कि सऊदी सरकार के कहने पर बहरीन और यूएई भी कतर से संबंध तोड़ चुके हैं।  

 

75 करोड़ डॉलर की लागत 
इस नहर परियोजना पर करीब 75 करोड़ अमेरिकी डॉलर की लागत आएगी। अनुमान है कि इसे 1 साल के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। 60 किमी लंबी और 200 मीटर चौड़ी होने के साथ ही इस नहर की गहराई 15 से 20 मीटर होगी।  इसके चलते जमीनी रास्‍ते के जरिए होने वाला सऊदी अरब और कतर का कारोबार भी पूरी तरह से बंद हो सकता है। यह नहर सऊदी अरब के सलवा और  खव्र अल उदायत इलाके में खोदी जानी है।  

 

 

सऊदी अरब का दावा, नहर का निर्माण पर्यटकों के लिए 
सऊदी सरकार का दावा है कि यह नहर कतर को अलग थलग करने के लिए नहीं बल्कि इस इलाके को वाटर टूरिस्‍ट डेस्टिनेशन के तौर पर डेवलप करने की है। यह नहर एक शिपिंग लाइन क्रिएट करने में सफल होगी। इसके चलते पूरे इलाके में  रीजनल और ग्‍लोबल पर्यटन बढ़ेगा।  इसके अलावा नहर के दोनों सिरों पर पोर्ट भी डेवलप किया गया सकेगा। बाकी बीच में नहर का यूज कई तरह के वॉटर स्‍पोर्ट्स के लिए हो सकेगा। पास रिजॉर्ट, बीच और होटल्‍स की लाइन डेवलप की जा सकेगी।  यह पूरे इलाके में अपनी तरह का पहला प्रोजेक्‍ट होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट