Home » Economy » PolicyRSS chief said Divest AI but let it be with

RSS चीफ बोले- एयर इंडिया का मालिक भारतीय कंपनी ही बने

भागवत एयर इंडि‍या के विनिवेश को का समर्थन करते हुए कहा है कि एयर इंडिया का मालिकाना किसी भारतीय कंपनी को ही दिया जाए।

1 of

नई दिल्ली,  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने कर्ज में दबी सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडि‍या के विनिवेश को का समर्थन करते हुए कहा है कि एयर इंडिया का मालिकाना किसी भारतीय कंपनी को ही दिया जाए, जो इसे बेहतर तरीके से चला सके।

 

नया ऑपरेटर भारतीय कंपनी ही हो

बीएसई में इकोनॉमिक पर आधारित एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा कि सरकार को अपने आकाश का नियंत्रण और स्वामित्व नहीं गंवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया के परिचालन का ठीक से प्रबंधन नहीं किया गया। एयर इंडिया का मालिकाना हक उसी को दिया जाना चाहिए जो इसे दक्ष तरीके से चलाने में सक्षम है। नया ऑपरेटर भारतीय कंपनी ही होना चाहिए।

भागवत ने कहा कि दुनिया में कहीं भी राष्ट्रीय एयरलाइन में 49 फीसदी से अधिक विदेशी निवेश की अनुमति नहीं है। उन्होंने विशेष रूप से जर्मनी का जिक्र किया जहां विदेशी हिस्सेदारी की सीमा सिर्फ 29 फीसदी है। उन्होंने कहा कि यदि विदेशी हिस्सेदारी की सीमा 49 फीसदी को पार कर जाती है तो शेयरों को जब्त कर उन्हें घरेलू निवेशकों को बेचा जाना चाहिए, जैसा अन्य देशों में किया जाता है।

 

एयर इंडिया की 76% हिस्‍सेदारी बेचेगी सरकार
सरकार ने एयर इंडिया की 76% हिस्‍सेदारी बेचने की योजना है। इसके मुताबिक, सरकार जल्द ही एयरलाइंस का प्रबंधन प्राइवेट कंपनियों को सौंप सकती है। बता दें कि एयर इंडिया पर 50 हजार करोड़ रूपए का कर्ज है और पिछले 6 सालों से एयरलाइन्स सरकार के बेलआउट पैकेज पर चल रही है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट