Home » Economy » Policyknowledge about Bandicoot robot, what work done by bandicoot robot in tamilnadu

रोबोट करेगा सीवर की सफाई, तमिलनाडु से हुई शुरूआत

सीवर और मेन होल साफ करने के लिए अब लोगों को पाइपलाइन में उतरने की जरूरत नहीं पड़ेगी....

knowledge about Bandicoot robot, what work done by bandicoot robot in tamilnadu

तिरूवनंतपुरम। तमिलनाडु में मंदिरों की नगरी कुम्बकोणम में रोबोट अब सीवरों की सफाई करेंगे। केरल के स्टार्टअप कंपनी ‘जेनरोबोटिक्स’ ने ‘बंदीकूट’ नाम के ये रोबोट बनाए हैं। इस स्‍टार्टअप को केरल के इंजीनियरों का एक ग्रुप सपोर्ट कर रहा है। कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (CSR) के तहत इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने कुम्बकोणम नगरपालिका को रोबोट सौंपे हैं। 

 

कुम्बकोणम नगरपालिका क्षेत्र में करीब 5,000 मेनहोल हैं, रोबोट्स के जरिए इनकी नियमित तौर पर सफाई की जाएगी। नगरपालिका मशीनों के जरिये हर महीने करीब 400 से 500 सीवर मेनहोल की सफाई करती है। यह प्रक्रिया काफी पेचीदा है। कई बार इसमें इंसानी हाथ की जरूरत पड़ती है।  नगरपालिका की आयुक्त उमा माहेश्वरी ने कहा कि इन कामों को स्वचालित बनाने के लिए इंडियन ऑयल ने मेनहोल की सफाई करने वाले रोबोट मुहैया कराए हैं। वाईफाई, ब्लूटूथ और नियंत्रण पैनल से लैस इस रोबोट में चार पैर और एक बाल्टी लगी है। यह मकड़ी जैसा दिखता है।

 

यह रोबोट विकसित करने वाले स्‍टार्टआप जेनरोबोटिक्स के विमल गोविंद का दावा है कि उनकी कंपनी की ओर से तैयार किए गए इस रोबोट में सीवर और मैनहोल की  सफाई में इंसानी दखल को  खत्‍म करने और प्रभावी तरीके से अपना काम अंजाम देने की पूरी क्षमता है। इससे कई लोगों की जिंदगी को बचाया जा सकेगा। बता दें कि मेनहोल औ सीवर की सफाई के दौरान कई बार सफाई कर्मियों को अपनी जान से भी हाथ धोड़ा पड़ता है। 

 

 

बता दें कि सीवर होल्‍स की सफाई के लिए केरल सरकार इन रोबोट्स की सेवाएं लेने पर विचार कर रही है। यह रोबोट वाई-फाई, ब्‍लूटूथ और कंट्रोल पैनल से लैस है। इस प्रोजेक्‍ट को केरल वॉटर अथॉरिटी (KWA) का सपोर्ट हासिल है। पाइस लीकेज और सेनिटेशन से जुड़ी समस्‍याओं को ऐड्रेस करने के लिए KWA ने इसके लिए केरल स्‍टार्टअप मिशन से हाथ मिलाया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट