बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyदेश के सबसे अमीर मंदि‍र ने RBI से मांगी मदद, दानपात्र में नि‍कली 25 करोड़ की 'ब्‍लैक मनी'

देश के सबसे अमीर मंदि‍र ने RBI से मांगी मदद, दानपात्र में नि‍कली 25 करोड़ की 'ब्‍लैक मनी'

भारत के सबसे अमीर मंदि‍र ति‍रुपति‍ बालाजी के दानपात्र में लगभग 25 करोड़ की राशि पुराने नोटों में मि‍‍‍‍ली हैैै।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. 8 नवंबर 
2016 को 
लिए गए नोटबंदी के फैसले के बाद देश में 500 और 1000 रुपए केे नोट पूरी तरह से बंद हो गए थे। इसके बाद लोगों ने अपने पास रखे 500 और 1000 रुपए के नोटों को बैंकों में जाकर बदलवा लि‍या था। लेकि‍न इस दौरान भारत के सबसे अमीर मंदि‍र ति‍रुपति‍ बालाजी के दानपात्र में लगभग 25 करोड़ की राशि पुराने नोटों में मि‍‍‍‍ली हैैै। ऐसे में मंदिर प्रशासन की ओर से मदद के लिए आरबीआई को लेटर लिखा है। 

 
भक्‍तों ने दानपात्र में डाले पुराने नोट 
 
मंदिर के मुताबिक, दर्शन के लिए आने वाले भक्तों ने नोट बदलने की सीमा खत्म होने के बाद भी हुंडी में 1000 और 500 रुपए के पुराने नोट डाले हैं। यही नोट अब मंदिर के लिए सिर दर्द बने हुए हैं। इसके चलते मंदि‍र ने आबीआई से मदद मांगी है। वहीं, यह भी कहा जा रहा है कि‍ जो लोग अपनी ब्‍लैक मनी को बैंक में जमा नहीं करा पाए। उन्‍होंने ही कानून के शि‍कंजे से बचने के लि‍ए पुराने नोट मंदि‍र के दानपात्र में डाले हैं। 
आगे पढ़ें : अारबीआई ने क्‍या दि‍या जवाब 
RBI ने नोट बदलने से मना कि‍या 
 
इस विषय में मंदिर पहले भी आरबीआई को लेटर लिख कर नोटों को बदलने की अपील कर चुका है। इसके जवाब में RBI ने स्पष्ट तौर पर मंदिर को नोट बदलने के लिए मना कर दिया था। आरबीआई की दलील थी कि इससे तमाम लोग आरबीआई पर नोट बदलने के लिए दबाव बनाएंगे जिसे बैंक के सामने मुश्‍कि‍ल खड़ी हो जाएगी। 
2 लाख लोगों को भेजा है नोटि‍स 
 
हाल ही में खबर आई थी कि‍ ऐसे 2 लाख लोगों नोटि‍स जारी कि‍या गया था। जि‍न्‍होंने नोटबंदी के दौरान अपने बैंक खाते में 15 लाख रुपए जमा कराए हैं। ऐसे में आयकर विभाग इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में मंदि‍र के दानपात्र में आए पुराने नोटों को बदलना अब आरबीआई के लि‍ए मुमकि‍न नहीं है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट