बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyबि‍ना सब्‍सि‍डी हज का रि‍कॉर्ड तोड़ेंगे भारतीय मुसलमान, मोदी सरकार ने बचाए 57 करोड़

बि‍ना सब्‍सि‍डी हज का रि‍कॉर्ड तोड़ेंगे भारतीय मुसलमान, मोदी सरकार ने बचाए 57 करोड़

आजादी के बाद पहली बार बिना सब्सिडी के सबसे ज्यादा भारतीय मुस्लिम 2018 में हज यात्रा करेंगे।

1 of

मुंबई। आजादी के बाद पहली बार बिना सब्सिडी के सबसे ज्यादा भारतीय मुस्लिम 2018 में  हज यात्रा करेंगे। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने देशभर से आए हज 'खादिम-उल-हुज्जाज' के ट्रेनिंग कैंप में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार लगातार दूसरे साल भी भारत के हज कोटे में बढ़ोतरी कराने में सफल हुई है और आजादी के बाद पहली बार भारत से रिकॉर्ड 1,75,025 हाजी हज 2018 के लिए जायेंगे। इस वर्ष हज के लिए कुल 355604 आवेदन प्राप्त हुए। जिनमे 189217 पुरुष और 166387 महिलाएं शामिल हैं।  
इस वर्ष हज पर कुल 1,28,002 हाजी हज कमेटी ऑफ इंडिया के माध्यम से जाएंगे जिनमें लगभग 47 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं। इसके अलावा बिना 'मेहरम' के हज पर 1308 महिलाएं जा रही हैं। इसके अलावा निजी टूर ऑपरेटरों के माध्यम से 47,023 हाजी हज पर जायेंगे।

 आगे पढ़ें  

57 करोड़ कम खर्च हुए 
2017 में 124852 हाजियों के लिए 1030 करोड़ रुपए एयरलाइन्स कंपनियों को हवाई  किराये के रूप में दिए गए थे जबकि 2018 में 1,28,002 हाजियों के लिए 973 करोड रुपए दिए जायेंगे जो पिछले वर्ष के मुकाबले 57 करोड़ रुपए कम है।  नकवी ने कहा कि वह सीधे पूरी व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे थे और सामान्य समय में अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा की कीमत एवं हज यात्रा के समय बढ़ी कीमत के आंकलन और ब्योरे के साथ मंत्रालय के अधिकारी एयरलाइन्स कंपनियों से बातचीत कर रहे थे, जिसके नतीजे में इस वर्ष हज यात्रा की हवाई कीमत में रिकॉर्ड गिरावट हुई है। आगे पढ़ें 

 

 

बि‍ना मेहरम जा रही हैं महिलाएं 
नकवी ने ट्रेनिंग कैंप में कहा कि हज प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन, डिजिटल करने से हज प्रक्रिया को पारदर्शी एवं हाजियों के लिए सुलभ बनाने में मदद मिली है। नकवी ने कहा कि पहली बार हज यात्रियों को अपने मूल इम्बार्केशन पॉइंट के अलावा किसी एक अन्य इम्बार्केशन पॉइंट से भी जाने की सुविधा दी गई है जिसके उत्साहवर्धक नतीजे आए हैं। भारत से पहली बार मुस्लिम महिलाएं बिना 'मेहरम' (पुरुष रिश्तेदार) के हज पर जाएंगी। 1308 महिलाओं ने बिना 'मेहरम' हज पर जाने के लिए आवेदन किया है और इन सभी को लॉटरी सिस्टम से बाहर रख कर हज पर जाने की व्यवस्था की गई है। आगे पढ़ें 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट