विज्ञापन
Home » Economy » Policyno changes in repo rates, rbi monetary policy committee said in press conference

अारबीआई ने नहीं किया दरों में कोई बदलाव, नहीं पड़ेगा आपकी जेब पर बोझ

6.5 प्रतिशत ही रहेंगी दरें

no changes in repo rates, rbi monetary policy committee said in press conference
सारी संभावनाओं को खारज करते हुए आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। दरें 6.5 प्रतिशत ही रहेंगी। शुक्रवार दोपहर को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की चौथी मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक खत्म हुई। कमेटी ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि आरबीआई ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है, यानी लोगों की जेबों पर कोई अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ेगा।

 

नई दिल्ली। सारी संभावनाओं को खारिज करते हुए  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आऱबीआई) ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। दरें 6.5 प्रतिशत ही रहेंगी। शुक्रवार दोपहर को आरबीआई की चौथी मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक खत्म हुई। कमेटी ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि आरबीआई ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है, यानी लोगों की जेबों पर कोई अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ेगा।

 

जो होती वृद्धि तो बढ़ जाती मुश्किलें

अगर ऐसा होता तो रिजर्व बैंक से अन्य बैंकों को मिलने वाले लाेन की दरें बढ़ जातीं। नतीजतन लोगों काे बैंक ये लोन लेने में अधिक ब्याज चुकाना पड़ता। इसके चलते लोगों को घर खरीदना भी महंगा पढ़ जाता क्योंकि उन्हें अधिक ब्याज देना पड़ता।

 

 

रेपो रेट बढ़ने के थे आसार

रुपए के लगातार गिरते मूल्य, कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें, करंट अकाउंट डेफिसिट पर बढ़ते दबाव और लिक्विडिटी के मुद्दों के बीच बाजार विश्लेषक और शीर्ष अर्थशास्त्री कयास लगा रहे थे कि आरबीआई रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की वृद्धि करेगा। इसके पहले बैंक ने जेन और अगस्त में महंगाई बढ़ने और कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव का हवाला देते हुए 25 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन