विज्ञापन
Home » Economy » PolicyPolitical parties have well system of hiring aircraft during lok sabha elections 2019

आसमानी लड़ाई में BJP ने CONGRESS को पछाड़ा, बुक किए 60 % हेलिकॉप्टर

इस बार खास होंगे चुनाव, एक दूसरे के साथ हेलिकॉप्टर की शेयरिंग करेंगी पार्टियां

Political parties have well system of hiring aircraft during lok sabha elections 2019

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनावों से पहले कैंपेंनिंग शुरू हो चुकी है। ऐसे में पार्टियां एक-दूसरे से आगे निकलने की कोशिशों में लगी हुई हैं। एक-दूसरे से आगे निकलने की कोशिश में  पार्टियां ऐसे काम भी कर रही हैं जिनके बारे में कोई सोच तक नहीं सकता। इस बार का यह चुनाव जमीन के साथ-साथ हवा में भी लड़ा जाएगा। जी हां, यह मजाक नहीं बल्कि सच है। चुनाव से पहले पार्टियों के बीच हेलिकॉप्टर और चार्टेड प्लेन बुक कराने की लडाई हो रही है। आम चुनावों के चलते हेलिकॉप्टर और चार्टेड प्लेन कंपनियों की चांदी हो गई है। क्योंकि आमतौर पर चुनावों में  हेलिकॉप्टर और चार्टेड प्लेन की बुकिंग घंटों के हिसाब से की जाती है लेकिन इस बार चुनावों में पार्टियां पूरे चुनावी सीजन के लिए इन्हें बुक कर रही हैं ताकि दूसरी पार्टियां बुकिंग ना करा सकें।

भारत में लगभग 260 हेलिकॉप्टर 


एक्सपर्ट्स का मानना है कि जिस तरीके से हेलिकॉप्टर और चार्टेड प्लेन की बुकिंग इस बार हुई है, उतनी पहले कभी नहीं हुई। देश में हेलीकॉप्टर की संख्या सीमित है और सभी पार्टियां इन्हें बुक कराना चाहती हैं ताकि विपक्ष के पास प्रचार करने के ज्यादा साधन ना बचे। आपको बता दें कि भारत में लगभग 260 हेलिकॉप्टर और 200 चार्टेड प्लेन हैं।  इंडस्ट्री के सूत्र बता रहे हैं कि भाजपा ने महीनों पहले ही लगभग 60 फीसदी हवाई जहाजों की बुकिंग करा ली है। ऐसे में कांग्रेस ने शिकायत की है कि उसके पास बुकिंग के लिए जहाज नहीं बचे हैं। 

 एक दूसरे के साथ हेलिकॉप्टर की शेयरिंग करेंगी पार्टियां


इसके साथ ही इस बार चुनावों में  कई स्थानीय दल , खासतौर पर महागंठबंधन की पार्टियां एक दूसरे के साथ हेलिकॉप्टर की शेयरिंग भी रह रही हैं। मार्टिन कंस्ल्टिंग के फाउंडर और सीईओ ने बताया है कि आम दिनों के मुकाबले हेलिकॉप्टर के प्रति घंटे के किराए दोगुने -तिगुने तक हो गए हैं। एक नेता के एक दिन के प्रचार के लिए पार्टियों को 10-15 लाख रुपए तक खर्च करना पड़ सकता है। जितनी देर हेलिकॉप्टर खड़ा रहेगा उसका भी किराया देना होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन