विज्ञापन
Home » Economy » PolicyHow to register himself for govt pension scheme

3000 रुपए प्रतिमाह की पेंशन के लिए ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन, जानिए इसके पूरे प्रोसेस के बारे में

यह स्कीम 15 फरवरी 2019 से लागू हो गई है।

How to register himself for govt pension scheme

How to register himself for govt pension scheme:  केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत मजदूरों के लिए पेंशन योजना के लिए नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि सरकार 15 हजार रुपए से कम इनकम वाले मजदूरों को 60 साल की उम्र के बाद 3000 रुपए प्रति माह की पेंशन देगी।

नई दिल्ली. केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत मजदूरों के लिए पेंशन योजना के लिए नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि सरकार 15 हजार रुपए से कम इनकम वाले मजदूरों को 60 साल की उम्र के बाद 3000 रुपए प्रति माह की पेंशन देगी। सरकार की ओर से योजना की अधिसूचना जारी कर दी है। यह स्कीम 15 फरवरी 2019 से लागू हो गई है।

 

अगले 5 सालों में 10 करोड़ मजदूरों को जोड़ने का लक्ष्य 

सरकार इस योजना के दायरे में अगले पांच साल में असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ मजदूरों को शामिल करना चाहती है। इसके तहत सरकार सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विस के तहत रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू कर चुकी है। देशभर में 3.13 लाख सीएससी सेंटर का नेटवर्क है। इनमें से 2.13 लाख ग्राम पंचायत स्तर पर काम करते हैं। ऐसे में मजदूर अपने नजदीकी सीएससी सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। 


किसे मिलेगा योजना का लाभ 

योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए है। इनमें घर में काम करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, ड्राइवर, प्लंबर, दर्जी, मिड-डे मील वर्कर, रिक्शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर, कूड़ा बीनने वाले, बीड़ी बनाने वाले, हथकरघा, कृषि कामगार, मोची, धोबी, चमड़ा कामगार को शामिल किया गया है। 

 

क्या है निमय 

योजना के लिए अंगठित क्षेत्र के मजदूक की इनकम 15,000 रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। 
सेविंग बैंक अकाउंट या फिर जनधन अकाउंट की पासपोर्ट और आधार नंबर होना चाहिए।  
उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। 
पहले से केंद्र सरकार की किसी अन्य पेंशन स्कीम का फायदा नहीं उठाया रहा हो।  

 

क्या है शर्ते 

  • अपने हिस्से का योगदान (किश्त) करने में चूक होने पर पात्र सदस्य को ब्याज के साथ बकाए का भुगतान करके कॉन्ट्रिब्यूशन को नियमित करने की अनुमति होगी। यह ब्याज सरकार तय करेगी। 
  • योजना से जुड़ने की तारीख से 10 साल के अंदर स्कीम से निकलने का इच्छुक है तो केवल उसके हिस्से का योगदान सेविंग बैंक की ब्याज दर पर उसे लौटाया जाएगा।  
  • अगर पेंशनभोगी स्कीम से 10 साल बाद लेकिन 60 साल की उम्र से पहले निकलता है तो उसे पेंशन स्कीम में कमाए गए वास्तविक ब्याज के साथ उसके हिस्से का योगदान लौटाया जाएगा।  
  • किसी कारण से सदस्य की मौत हो जाने पर जीवनसाथी के पास स्कीम को चलाने का विकल्प होगा। इसके लिए उसे नियमित योगदान करना होगा। 
  • पेशनभोगी और उसके जीवनसाथी की मौत होने की दशा में रकम को वापस फंड में क्रेडिट कर दिया जाएगा।  
  • 60 साल की उम्र से पहले अस्थायी रूप से विकलांग होने पर स्कीम में योगदान करने में समर्थ है तो उसके पास स्कीम के वास्तविक ब्याज के साथ अपने हिस्से का योगदान लेकर स्कीम से निकलने का विकल्प होगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन