Home » Economy » Policynow Consumers will be able to return plastic bottles after consumption and will be paid back at price of up to Rs 15 per Kg.

यूज करने के बाद पेप्सी-कोका कोला को वापस बेच सकेंगे खाली बोतल, एक Kg के लिए मिलेंगे 15 रु

आए प्‍लास्टिक से जुड़े नए रेग्‍युलेशन, कंपनियां बोलत पर लिख रहीं बायबैक वैल्‍यू, महाराष्‍ट्र से हुई शुरुआत...

1 of

नई दिल्‍ली। अब आप इस्‍तेमाल करने के बाद पेप्‍सी, कोका-कोला और बिस्‍लेरी जैसी कंपनियों को खाली बोतल वापस बेच सकेंगे। दरअसल देश में प्‍लास्टिक से जुड़े  नए रेग्‍युलेशन आने के बाद ऐसा होना संभव दिख रहा है। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सॉफ्ट ड्रिंक और पानी से जुड़ी कंपनियों ने महाराष्‍ट्र में अपनी बोतलों पर बायबैक वैल्‍यू लिखनी शुरू भी कर दी है। हाल में महाराष्‍ट्र में प्‍लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगने के बाद कंपनियों की ओर से यह कदम देखने को मिला है।   

 

कंपनियों ने तय की बोतल की बायबैक कीमत 
सरकार ने कंपनियों को बोतलों की बायबैक वैल्यू तय करने को लेकर छूट दे दी है। इसके तहत यूज के बाद ग्राहक कंपनियों को प्‍लास्टिक की बोतल वापस कर सकेंगे। उन्‍हें बोतल पर प्रिंटेड बायबैक वैल्‍यू के हिसाब से पेड कर दिया जाएगा। फिलहाल ज्यादातर कंपनियों ने एक Kg बोतल की कीमत 15 रुपए  तक तय की है। वहीं इन बोतलों को पैक करने के लिए यूज किए जाने वाले श्रिंक रैप्‍स (shrink wraps) की कीमत 5 रुपए प्रति Kg रखी गई है। 

 

बड़ा सवाल क्‍या यह सिस्‍ट फुल प्रूफ है 
हालांकि इंडस्ट्री के ही कुछ अधिकारियों का कहना है कि बायबैक सिस्टम फुलप्रूफ नहीं है। इससे आने वाले समय में और जटिलता पैदा हो सकती है। बिस्लेरी के चेयरमैन रमेश चौहान के मुताबिक, देश में प्लास्टिक को रीसाइकिल करने की व्यवस्था पहले से ही है। हमें यह देखना चाहिए कि कूड़ा/प्‍लास्टिक बीनने वालों जैसे इससे जुड़े संबंधित पक्षों को प्रभावी तरीके से कैसे ज्‍यादा फायदा पहुंचाया जा सकता है।


आगे आगे पढ़ें- बोतल खरीदने के लिए मशीन लगाएगी पेप्‍सी 

 

यह भी पढ़ें- दुनिया के कई देशों में थम्‍सअप को लांच करेगी कोका कोला

 

पेप्‍सी मशीन लगाकर कलेक्‍ट करेगी बोतल 

पेप्सी के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी ने अब अपनी प्लास्टिक बोतलों की रीसाइकल वैल्यू 15 रुपए प्रति Kg तय की है। महाराष्ट्र में बिकने वाली बोतलों पर यह बायबैक वैल्यू लिखी जा रही है। पेप्सी के प्रवक्ता ने कहा कि हम जेम एन्वायरो (फेमस वेस्‍ट मैनेजमेंट कंपनी) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। बता दें कि  जेम एन्वायरो रिवर्स वेंडिंग मशीनें सेट करेगी, कलेक्शन पॉइंट्स बनाएगी। राज्य में बायबैक प्रोग्राम को आगे बढ़ाने के लिए यह प्रयास किए जाएंगे और राज्‍य में कई जगहों पर बोतलों के कलेक्शन के लिए सेंटर बनेंगे।

 

आगे पढ़ें- यूपी में 15 जुलाई से प्‍लास्टिक  पर बैन 

 

यह भी पढ़ें- ये है वीना की फैक्‍ट्री, यहां बेकार मोबाइल-लैपटॉप भी नहीं होता बेकार

 

 

यूपी में 15 जुलाई से प्‍लास्टिक  पर बैन 

बता दें कि हाल में यूपी सरकार ने भी 15 जुलाई से प्‍लास्टिक पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है। इस मौके पर यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा था कि राज्‍य में प्‍लास्टिक पर बैन की सख्‍त जरूरत थी। इससे प्रदूषण फैल रहा था। इसी के साथ यूपी भी देश के उन राज्‍यों में शामिल हो गया, जिन्‍होंने पॉलिथिन पर बैन लगा दिया है।  इससे पहले महाराष्‍ट्र ने भी पॉलिथिन पर बैन ल‍गा दिया था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट