विज्ञापन
Home » Economy » PolicyPF holders can get relief, interest rates will not be cut

PF धारकों को मिल सकती है राहत, ब्याज दरों में नहीं होगी कटाैती

न्यूनतम पेंशन बढ़ाकर दोगुनी की जा सकती है

PF holders can get relief, interest rates will not be cut

सरकार पीएफ की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने जा रही है। पीएफ की ब्याज दें 8.55 फीसदी ही रह सकती है। अगर सा हुआ तो इससे देश के 6 करोड़ पीएफ धारकों को फायदा मिलेगा। बता दें की सेंट्रल बोर्ड आॅफ ट्रस्टी की आगामी गुरुवार को एक बैठक होने जा रही है। इस बैठक में पीइफ धारकों की न्यूनतम पेंशन बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, न्यूनतम पेंशन बढ़ाकर दोगुनी की जा सकती है।

नई दिल्ली। सरकार पीएफ की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने जा रही है। पीएफ की ब्याज दें 8.55 फीसदी ही रह सकती है। अगर सा हुआ तो इससे देश के 6 करोड़ पीएफ धारकों को फायदा मिलेगा। बता दें की सेंट्रल बोर्ड आॅफ ट्रस्टी की आगामी गुरुवार को एक बैठक होने जा रही है। इस बैठक में पीइफ धारकों की न्यूनतम पेंशन बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, न्यूनतम पेंशन बढ़ाकर दोगुनी की जा सकती है। अगर में बैठक में इस बात पर सहमति बन जाती है तो इससे ईपीएफओ की पेंशन स्कीम के करीब 50 लाख अंशधारकों को फायदा मिलेगा।

 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सीबीटी के सदस्य प्रभाकर बानासुरे का कहना है कि गुरुवार को सीबीटी की बैठक से पहले FIAC (Fianace, investment and audit committee) की भी बैठक होनी है। इस बैटक में साफ हो जाएगा कि पीएफ पर ब्याज दर कितनी रहेगी। हालांकि उम्मीद की जा रही है इनमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा और मौजूदा दर 8.55 % ही रहेगी। बता दें सीबीटी एक त्रीपक्षीय निकाय है, इसमें सरकार, कर्मचारी और श्रम मंत्रालय की ट्रेड यूनियनों के प्रमुख शामिल रहते हैं। ईपीएफओ में सभी अहम फैसले सीबीटी द्वारा ही लिए जाते हैं।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss