विज्ञापन
Home » Economy » PolicyOpportunities to earn3 lakhs rupees in 3 months

इस बिजनेस में मात्र 15 हजार रुपए लगाकर 3 महीने में कमा सकते हैं लाखों रुपए, आपके पास भी है मौका

बिजनेस शुरू करने के लिए करना होगा बस यह काम

Opportunities to earn3 lakhs rupees in 3 months

Opportunities to earn3 lakhs rupees in 3 months बाजार में नैचुरल प्रोडक्ट की मांग हमेशा रहती है। अधिकतर लोग कैमिकल युक्त प्रोडक्ट्स की बजाय प्राकृतिक प्रोडक्ट्स ही अपनाते हैं। नैचुरल प्रोडक्ट्स हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं और ना ही इनके कोई साइट इफेक्ट होते हैं। ऐसे में अगर इसे बिजनेस के नजरिए से देखा जाए तो? अगर आपके पास ज्यादा पैसे नहीं हैं लेकिन आप फिर भी बिजनेस करना चाहते हैं तो मेडिसिनल प्लांट की खेती आपके लिए काफी अच्छी साबित हो सकती है। 

नई दिल्ली। बाजार में नैचुरल प्रोडक्ट की मांग हमेशा रहती है। अधिकतर लोग कैमिकल युक्त प्रोडक्ट्स की बजाय प्राकृतिक प्रोडक्ट्स ही अपनाते हैं। नैचुरल प्रोडक्ट्स हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं और ना ही इनके कोई साइट इफेक्ट होते हैं। ऐसे में अगर इसे बिजनेस के नजरिए से देखा जाए तो? न्यूज 18 की खबर के मुताबिक अगर आपके पास ज्यादा पैसे नहीं हैं लेकिन आप फिर भी बिजनेस करना चाहते हैं तो मेडिसिनल प्लांट की खेती आपके लिए काफी अच्छी साबित हो सकती है। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको बहुत अधिक पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। और ना ही इसके लिए आपको लंबे-चौड़े फार्म की जरूरत है।  इसे आप कॉन्ट्रैक्ट पर भी ले सकते हैं। 

हो सकती है लाखों की कमाई


आजकल कई कंपनियां कॉन्ट्रैक्ट पर औषधियों की खेती करा रही है। इनकी खेती शुरू करने के लिए आपको कुछ हजार रुपए ही खर्च करने की जरूरत है, लेकिन कमाई लाखों में होती है। अधिकतर हर्बल प्लांट्स ऐसे होतो हैं जो कि कम समय में ही तैयार हो जाते हैं जिनमें तुलसी, आर्टीमीसिया एन्नुआ, मुलैठी, एलोवेरा आदि शामिल हैं। वहीं कुछ पौधे ऐसे भी है जिन्हें गमलों में ही उगाया जा सकता है। इन पौधों की खेती करने के लिए आपको कुछ हजार रुपए की ही जरूरत होती है। लेकिन इससे लाखों में कमाई की जा सकती है।

आयुर्वेद दवाएं बनाने वाली कंपनियां कराती हैं तुलसी की कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग


इन सभी हर्बल पौधों में से यदि हम तुलसी की बाद करें तो इसकी खेती कर आप काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं। तुलसी के कई प्रकार होते हैं, जिनसे यूजीनोल और मिथाईल सिनामेट होता है। इनके इस्‍तेमाल से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों की दवाएं बनाई जाती हैं। 1 हेक्‍टेयर पर तुलसी उगाने में केवल 15 हजार रुपए खर्च होते हैं लेकिन, 3 महीने बाद ही यह फसल लगभग 3 लाख रुपए तक बिक जाती है। आपको बता दें  कि पतंजलि, डाबर, वैद्यनाथ आदि आयुर्वेद दवाएं बनाने वाली कंपनियां तुलसी की कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग कराती हैं। बता दें कि तुलसी के बीज और तेल का बड़ा बाजार है। हर दिन नए रेट पर तेल और तुलसी बीज बेचे जाते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन