Advertisement
Home » इकोनॉमी » पॉलिसीOpen a gaushala and earn more than 2 lakh rupees per month

योगी सरकार का नया तोहफा, गौशाला खोलिए, हर महीने 1.80 लाख रुपए कमाइए

गौ संरक्षण के लिए पशुपालन मंत्री ने दिया प्रस्ताव

1 of

नई दिल्ली। गो संरक्षण को लेकर हाल ही में प्रदेश के प्रत्येक निकाय और ग्राम पंचायत में गौशाला खोलने की घोषणा करने वाली उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के पशुपालन मंत्री बेरोजगारों के लिए एक नया ऑफर लेकर आए हैं। उत्तर प्रदेश के पशुपालन मंत्री एसपी सिंह बघेल ने प्रदेश सरकार को एक प्रस्ताव सौंपा है। इस प्रस्ताव में गौ संरक्षण के लिए निजी स्तर पर गौशाला खोलने की बात कही गई है। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि जिन किसानों या अन्य लोगों के पास पांच बीघा जमीन है वह गौशाला खोल सकते हैं। इन गौशाला में रखे जाने वाले प्रत्येक गौवंश की देखभाल के लिए राज्य सरकार अनुदान देगी। 

 

इतनी होगा कमाई
पशुपालन मंत्री एसपी सिंह बघेल के प्रस्ताव के अनुसार, कोई भी किसान गायों या गौवंश रखने के लिए गौशाला या संरक्षण केंद्र बना सकता है। इस गौशाला में 200 गौवंश रखे जा सकते हैं। प्रत्येक गौवंश के संरक्षण के लिए राज्य सरकार 30 रुपए प्रति दिन के हिसाब से खर्च देगी। यानी आप 200 गौवंश रखते हैं तो सरकार आपको रोजाना 6 हजार रुपए देगी। इस प्रकार से 200 गौवंश को एक महीने रखने के लिए सरकार की ओर से आपको 1.80 लाख रुपए दिए जाएंगे। गौशाला चलाने वाले को गौवंश के लिए चारे-पानी आदि की व्यवस्था करनी होगी। इसके अतिरिक्त गौशाला संचालन करने वाला व्यक्ति गौवंश के गोबर, मूत्र और दूध से भी अतिरिक्त कमाई कर सकता है। हालांकि, अभी इस प्रस्ताव पर कोई फैसला नहीं हो पाया है। 

Advertisement

सभी जिलों में होगा गौ संरक्षण सदन का निर्माण


योगी सरकार ने हाल ही में प्रदेश के सभी जिलों में गौ संरक्षण केंद्र के निर्माण की घोषणा की है। प्रत्येक गौ संरक्षण केंद्र के निर्माण पर 1.20 करोड़ रुपए की लागत आएगी। प्रदेश में 52 जगहों पर गौ संरक्षण केंद्र का निर्माण कार्य चल रहा है। सरकार ने हाल ही में सभी निकायों और पंचायतों में गौ संरक्षण केंद्र खोलने की घोषणा की है। इन गौ संरक्षण केंद्रों में गोवंश की सेवा के लिए निकायों और पंचायतों को प्रति गौवंश 30 रुपए प्रतिदिन देने की घोषणा की है।

इसलिए लिया गौ संरक्षण सदन बनाने का फैसला


पशुपालन मंत्री एसपी सिंह बघेल के अनुसार, प्रदेश के किसान गौवंश और अन्य आवारा पशुओं द्वारा फसल खराब करने की शिकायतें करते रहते हैं। सरकार किसानों को दर्द समझती है और इस समस्या का स्थायी समाधान करने के उद्देश्य से गौ संरक्षण सदन का निर्माण किया जा रहा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss