Home » Economy » Policynarendra modi announced demonetisation in 2016

नोटबंदी के दिनों की यादें ताजा कराती ये तस्वीरें

9 नवंबर की आधी रात से ही हर एटीएम पर लगने लगी थीं लोगों की कतारें

1 of

नई दिल्ली। साल 2016,  8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में नोटबंदी लागू की थी। जिसे इतिहास में खास दिन के तौर पर दर्ज किया गया है। पीएम मोदी ने 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे नोटबंदी का ऐलान किया था। इसके तहत 1000 रुपए और 500 रुपए के नोट को बंद कर दिया गया था। पीएम मोदी के ऐलान के बाद पूरे देश में अफरा-तफरी मच गई थी। 9 नवंबर की आधी रात से ही देश के हर एटीएम में लोगों की कतारें लगने लगी। नोट बदलने के लिए लोगों को लंबी लाइनों में खड़ा होना पड़ा जिससे आम नागरिकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। कुछ दिन बाद ही सरकार ने 500 और 2000 के नए नोट जारी किए। 

 

नोटबंदी लागू करते समय सरकार ने दावा किया था कि इससे काले धन पर लगाम लगेगी। नोटबंदी के दौरान कैश की किल्‍लत होने से न सिर्फ लोगों ने ज्‍यादा डिजिटल ट्रांजैक्‍शन किए, बल्कि सरकार की तरफ से भी इसके प्रोत्‍साहन के लिए काफी कदम उठाए गए। देश में नोटबंदी का जहां कुछ लोगों ने समर्थन किया वहीं कुछ लोगों और विपक्षी पार्टियों  ने इसका विरोध किया और कहा कि इससे अर्थव्यवस्था और नौकरियों  को नुकसान पहुंचेगा। विपक्ष ने तभी नोटबंदी के फैसले के कारण अर्थव्यवस्था की हालत बुरी होने, बेरोजगारी बढ़ने और सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) कम होने की आशंका जतायी थी।  

 

अगली स्लाइड में देखें नोटबंदी का देश पर असर

नोटबंदी के चलते एटीएम के बाहर लोगों  लगी लोगों की भीड़।

 

आगे पढ़ें, 

पैसे निकालने के लिए भीड़ बेकाबू हुए। पैसे निकालने के  लिए घंटों लाइनों में खड़े रहे लोग।

आगे पढ़ें,

देश में नोटबंदी का असर।

 

आगे पढ़ें,

कुछ लोगों ने नोटबंदी के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट