Home » Economy » PolicyFour years of Modi govt, Jan Dhan Yojana, मोदी सरकार के 4 साल, प्रधानमंत्री जनधन योजना

मोदी सरकार के 4 साल, जनधन के गिनाए 12 फायदे, बना वर्ल्‍ड रिकॉर्ड

इस योजना के जरिए न सिर्फ देश की आबादी के बड़ी हिस्‍से को पहली बार बैंक खातों का लाभ मिला...

1 of

नई दिल्‍ली। अपने कार्यकाल के 4 साल पूरे होने के मौके पर मोदी सरकार की ओर से उपलब्धियां गिनाने का दौर जारी है। नोटबंदी के बाद मोदी सरकार ने  प्रधानमंत्री जनधन योजना (PMJDY) को बड़ी उपलब्धि बताया है। इसके लिए फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने बाकयदा ट्वीट       जारी कर इस योजना की उपलब्धियां और विशेषताएं बताई है। ट्वीट में जनधन योजना को मोदी सरकार की बड़ी योजनाओं में से एक करार दिया गया है।

 

वित्‍त मंत्रालय का दावा है कि इस योजना के जरिए न सिर्फ देश की आबादी के बड़ी हिस्‍से को पहली बार बैंक खातों का लाभ मिला, बल्कि इसने वर्ल्‍ड लेवल पर भी कई रिकॉर्ड बनाए। इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों और महिलाओं के बीच बैंकिंग सेवा को पहुंचाने में मदद मिली। सरकार ने उन दावों को भी खाजिर कर दिया, जिसमें कहा जा रहा था कि ज्‍यादातर जनधन अकाउंट खाली हैं और लोग इसमें पैसा नहीं जमा कर रहे हैं। आइए जानते हैं इस योजना से जुड़े उन्‍हीं प्‍वाइंट्स के बारे में, जिन्‍हें वित्‍त मंत्रालय के अपनी और मोदी सरकार की उपलब्‍धी माना है।

 

मोदी सरकार ने जनधन के गिनाए 12 फायदे

 

1:- फाइनेंशियल इन्‍क्‍लूजन के लिए 25 अगस्‍त 2014 को प्रधानमंत्री जनधन योजना को पीएम मोदी की ओर से राष्‍ट्रीय मिशन के तौर पर लॉन्‍च किया गया।  

 

2:- 2 मई 2018 तक इस योजना के तहत 31.56 करोड़ लोगों का जनधन खाता खोला गया।

 

3:- करीब 59 फीसदी खाते इसमें से ग्रामीण इलाकों में खोले गए।

 

4:- 53 फीसदी जनधन खाते महिलाओं के लिए खाले गए।

 

5:- 2 मई 2018 तक जनधन खातों में 81,307 करोड़ रुपए की राशि जमा हुई थी।

 

6:- दिसंबर 2014 के 73 फीसदी के मुकाबले मार्च 2018 में जीरो बैलेंस खातों की संख्‍या गिरकर मात्र 16 फीसदी रह गई।   

 

7:- देश भर में करीब 56 करोड़ BSBD या जनधन अकाउंट हैं। इनपर जीरो चार्ज वसूला जाता है।

 

8:- ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग सुविधा मुहैया कराने के लिए देश भर में 1.26 लाख बैंक मित्र बनाए गए।

 

9:- 2 मई 2018 तक जनधन खाताधारकों को 23.73 करोड़ रूपे कार्ड जारी किए गए।

 

10:- वर्ल्‍ड बैंक ग्रुप के ग्‍लोबल फिनडेक्‍स डाटाबेस के मुताबिक, भारत में वयस्‍क खाताधारकों की संख्‍या 2011 के मुकाबले दोगुनी होकर 80 फीसदी पर जा पहुंची।

 

11:- 2014 से 2017 के बीच भारत में अकाउंट ओनरशिप में 30 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली।

 

12:- 2014 से 2017 के बीच दुनियाभर में 51.5 करोड़ बैंक अकाउंट खोले गए। जनधन के जरिए इसमें से करीब 50 फीसदी अकाउंट अकेले भारत में ही खोले गए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट