विज्ञापन
Home » Economy » PolicyModi government in full swing before kumbh mela 2019

कुंभ मेले से पहले हरकत में आई मोदी सरकार, गंगा सफाई के लिए करोड़ों रुपए की परियोजनाओं को दी मंजूरी

कानपुर शहर के सीवेज को गंगा तक जाने से रोका जाएगा, कई अन्य परियोजनाएं भी होंगी शुरू

Modi government in full swing before kumbh mela 2019
प्रयागराज कुंभ मेले के शुरु होने में करीब 23 दिनों का वक्त बचा है। ऐसे में अब मोदी सरकार ने गंगा सफाई को लेकर अपनी सक्रियता दिखाई है। केंद्र सरकार के राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन के तहत नामामि गंगा प्रोजेक्ट में कानपुर जोन के लिए 2,192 करोड़ दिए गए। इस बजट से कानपुर के सीवर के बहाव को गंगा में जाने से रोका जाएगा। दरअसल गंगा को प्रदूषित करने में कानपुर का अहम रोल है। यहां की चमड़ा फैक्ट्री की ट्रेनरी से निकलने वाले गंदगी और सीवर की गंगा के प्रदूषण की वजह बने हुए हैं।

नई दिल्ली. प्रयागराज कुंभ मेले के शुरु होने में करीब 23 दिनों का वक्त बचा है। ऐसे में अब मोदी सरकार ने गंगा सफाई को लेकर अपनी सक्रियता दिखाई है। केंद्र सरकार के राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन के तहत नामामि गंगा प्रोजेक्ट में कानपुर जोन के लिए 2,192 करोड़ दिए गए। इस बजट से कानपुर के सीवर के बहाव को गंगा में जाने से रोका जाएगा। दरअसल गंगा को प्रदूषित करने में कानपुर का अहम रोल है। यहां की चमड़ा फैक्ट्री की ट्रेनरी से निकलने वाले गंदगी और सीवर की गंगा के प्रदूषण की वजह बने हुए हैं।

 

10 परियोजनाओं को किया जाएगा चालू 
नामामि गंगा प्रोजेक्ट के तहत कानपुर जोन को मिले 2192 करोड़ रुपये की लागत से 10 परियोजनाओं को चालू किया जाएगा। योजना के तहत हाईब्रीड एनयूटी मोड के तहत जजमाऊ और बिनगंवा में मौजूदा सीवेज ट्रीटमेंट प्‍लांटों के संचालन, मरम्‍मत और उन्‍नयन की परियोजनाएं चलाई जाएंगी। 

 

कचरा हटाने के लिए लगाई गई है ट्रैश स्किमर मशीन
कानुपर और बिठूर में घाटों की साफ-सफाई का काम सुधारने तथा वहां गाद हटाने के काम के लिए राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन की ओर से 6.07 करोड़ रुपये की परियोजना का प्लान तैयार किया गया है। नदी में तैरने वाले कचरे को हटाने के लिए कानुपर में पहले से ही एक ट्रैश स्किमर मशीन लगा दी गई है। 

 

नितिन गडकरी ने 2019 से पहले 80 फीसदी गंगा सफाई का किया था दावा 
नितिन गडकरी मार्च 2019 से पहले 70 फीसदी गंगा की निर्मलता का दावा कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि  ‘नमामि गंगे’ कार्यक्रम के तहत गंगा नदी को निर्मल और अविरल बनाने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है और उम्मीद है कि मार्च 2019 तक 80 फीसदी और अगले मार्च तक गंगा पूरी तरह से निर्मल हो जाएगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss