Advertisement
Home » Economy » PolicyModi government can increase fellowship of researchers soon

मोदी सरकार को चुनावी साल में फिर याद आए छात्र, साढ़े चार साल बाद तोहफा देने की तैयारी

छात्रों के हित में जल्द हो सकती है बड़ी घोषणा

1 of

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों से पहले हर वर्ग को लुभाने के लिए नई-नई घोषणाएं कर रही केंद्र की मोदी सरकार ने अब छात्रों को लुभाने के लिए बड़ी तैयारी कर ली है। एक रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र की मोदी सरकार आने वाले दिनों में शोधार्थियों को मिलने वाली फेलोशिप में बढ़ोतरी कर सकती है। संभावना जताई जा रही है कि सरकार फेलोशिप में 50 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर सकती है। इससे देश के करीब 2 लाख शोधार्थियों को लाभ होगा। 

 

यूजीसी दे चुकी है मंजूरी
शोध से जुड़े छात्र लंबे समय से फेलोशिप में बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर बीते दिनों शोधार्थियों ने दिल्ली में प्रदर्शन भी किया था। शोधार्थियों की इस मांग पर यूजीसी भी अपनी सहमति जता चुकी है। अपनी इस राय से यूजीसी ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को भी अवगत करा दिया है। अब फेलोशिप में बढ़ोतरी को लेकर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय से राय मांगी गई है। संभावना जताई जा रही है कि सरकार कभी भी फेलोशिप में बढ़ोतरी की घोषणा कर सकती है। 

80 फीसदी बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं छात्र


फेलोशिप में बढ़ोतरी की मांग को लेकर शोधार्थी लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे हैं। शोधार्थियों का कहना है कि महंगाई के कारण शोध का लागत में बढ़ोतरी हो गई है। साथ ही बड़े शहरों में रहकर शोध करना जेब पर भारी पड़ रहा है। शोधार्थियों का कहना है कि महंगाई को देखते हुए फेलोशिप में 80 फीसदी की बढ़ोतरी की जाए। 

2014 में हुई थी अंतिम बढ़ोतरी


शोधार्थियों की फेलोशिप में इससे पहले  2014 में 56 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी। इस बढ़ोतरी के बाद उस समय फेलोशिप बढ़कर हर महीने 25 से 28 हजार रुपए हो गई थे। 2014 से पहले शोधार्थियों को फेलोशिप के रूप में 16 से 18 हजार रुपए मिलते थे। एक रिपोर्ट के अनुसार, 2014 से पहले 2010, 2007 और 2006 में फेलोशिप में बढ़ोतरी की गई थी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss