विज्ञापन
Home » Economy » PolicyLinking of voter id and aadhar card may be made mandatory

अब वोट डालने के लिए अनिवार्य होगा आधार और वोटर आईडी को लिंक कराना, चुनाव आयोग का सुझाव

आयोग के मुताबिक इस प्रक्रिया से चुनावों में पारदर्शिता और विश्वसनीयता आएगी।

1 of

नई दिल्ली.

जल्दी ही आपको वोट डालने के लिए अपने आधार कार्ड को वोटर आईडी कार्ड से लिंक कराना पड़ सकता है। चुनाव आयोग सरकार को यह सुझााव देने के बारे में योजना बना रहा है। मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक चुनाव आयोग रिप्रिजेंटेशन ऑफ पीपुल्स एक्ट, 1951 में संशोधन करना चाहता है। इसके तहत लोगों को अपने इलेक्टोरल फोटो आईडी कार्ड को 12 अंकों के आधार कार्ड से लिंक कराना होगा। आयोग का कहना है कि यह कदम चुनावी प्रक्रिया की सटीकता को बढ़ाने के लिए उठाया जा रहा है और जल्द ही आयोग अपने सुझाव कानून मंत्रालय को भेजेगा।

 

सरल बनेगी चुनावी प्रक्रिया

चुनाव आयोग के मुताबिक इस प्रक्रिया से चुनावों में पारदर्शिता और विश्वसनीयता आएगी। चुनावों के समय अक्सर वोटर लिस्ट में कई फर्जी नाम भी शामिल हो जाते हैं, जिनसे चुनावों के नतीजे प्रभावित होते हैं। ऐसे में अगर हर वोटर का आईडी कार्ड आधार से लिंक रहेगा तो इससे चुनावों में धोखाधड़ी होने की आशंका कम होगी। इतना ही नहीं निकट भविष्य में आयोग इलेक्ट्रॉनिक और इंटरनेट आधारित वोटिंग की प्रक्रिया भी शुरू करने की योजना बना रहा है। इसमें भी आधार और वोटर आईडी को लिंक कराना जरूरी होगा। इसके साथ ही दूर बैठे भारतीय नागरिक को वहां से वोट डालने के लिए भी इस प्रक्रिया से गुजरना होगा।

 

 

प्रॉक्सी वोटिंग के लिए भी जरूरी

सरकार ने लोकसभा में एक संशोधन बिल पास किया था जिसके मुताबिक NRI भी प्रॉक्सी वोटिंग के जरिए देश के चुनावों में वोट डाल सकेंगे। इसमें कोई अन्य व्यक्ति उनके कहे मुताबिक उनकी आईडी से वोट डालेगा। इस बिल का अभी राज्यसभा में पारित होना बाकी है, लेकिन इसके लिए भी आधार को वोटर आईडी से लिंक कराना जरूरी है।

 

आगे पढ़ें- सु्प्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लिया फैसला

 

 

सु्प्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लिया फैसला

26 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया था कि आधार को हर सेवा से लिंक कराना जरूरी नहीं है। इसे सिर्फ उन सेवाओं से लिंक किया जा सकता है जो कानूनी तौर पर मान्य हैं। इसके बाद चुनाव आयोग ने युनीक आईडेंटिफेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) से इस बारे में सलाह कि कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए वोटर आईडी और आधार कार्ड की लिंकिंग को कैसे जारी रखा जा सकता है। इसके बाद UIDAI ने सुझाव दिया कि कानूनी सहारा लेने के बाद ही वाेटर आईडी और आधार कार्ड की लिंकिंग को जारी रखा जा सकता है।

 

आगे पढ़ेंइतने लोगों का वोटर आईडी हो चुका है लिंक

 

 

देश में है 75 करोड़ रजिस्टर्ड वोटर

2015 में चुनाव आयोग ने आधार को वोटर आईडी से लिंक कराना शुरू किया थालेकिन बाद में कोर्ट ने निजता की रक्षा का हवाला देते हुए इस प्रक्रिया को रोक दिया। तब तक देश के 75 करोड़ रजिस्टर्ड वोटर्स में से तकरीबन 38 करोड़ वोटर्स का वोटर आईडी आधार से लिंक हो गया था।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन