Home » Economy » Policyname of gandhi running 52,000 cr business

गांधी के नाम पर चल रहा 52,000 करोड़ का यह कारोबार

अगले साल तक 70,000 करोड़ होने की उम्मीद

1 of

नई दिल्ली. देश में 52,000 करोड़ रुपए के कारोबार वाला बिजनेस महात्मा गांधी के नाम पर चल रहा है। क्योंकि गांधी इस बिजनेस के ब्रांड अंबेसडर है। गांधी के नाम पर ही आज भी इस बिजनेस को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है। जी हां, हम बात कर रहे हैं खादी की। वहीं खादी जो अब फैशन में हैं। नेता हो या अभिनेता, सबके सब खादी को पहनने में फक्र करते हैं।

 

खादी के निर्यात की हुई शुरुआत 

गांधी ने 1918 में हाथ से बुने कपड़े की शुरुआत की और गांधी ने गांव की गरीब जनता के लिए खादी को आंदोलन के रूप में चलाया। गांधी का मकसद इससे ग्रामीण भारत स्वाबलंबी बनाना था। लेकिन अब खादी कहीं आगे निकल चुका है। अब हमने खादी के निर्यात की शुरुआत कर दी है।

 

बढ़ा खादी का कारोबार 

खादी व ग्रामीण उद्योग से जुड़े खादी ग्रामोद्योग (केवीआईसी) का कारोबार पिछले वित्त वर्ष में 52,000 करोड़ के स्तर पर पहुंच गया। केवीआईसी के सीएमडी वी.के. सक्सेना के मुताबिक वित्त वर्ष 2019 के अंत तक इस कारोबार को 70,000 करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य हैं।

 

आगे पढ़े- क्या कहते थे खादी को लेकर गांधी

 

 

क्या कहते थे खादी को लेकर गांधी

गांधी कहते थे कि मशीन से बनी चीजें आंखों को ज्यादा भाती करती है लेकिन खादी ऐसी चीज है जो पहले दिन को भाती है फिर आंखों को। गांधी को खादी व स्वदेशी से इतना प्यार था कि 1925 में एक बार जब वे पंजाब के जालंधर शहर गए तो वहां के किसानों में उनका स्वागत फूलमाला से नहीं किया था बल्कि गांधी का स्वागत हाथ से बने कॉटन के माला से किया गया। हाल ही में वाणिज्य व उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था कि खादी से सिर्फ भारतीय अर्थव्यवस्था को ही प्रोत्साहन नहीं मिल रहा है बल्कि इससे रोजगार के भी कई अवसर मिल रहे हैं।

 

आगे पढ़ें- कई देशों में खादी के निर्यात की तैयारी

कई देशों में खादी के निर्यात की तैयारी

केवीआईसी के मुताबिक दुनिया के कई देशों में खादी के निर्यात शुरू हो गए हैं और अगले साल तक दर्जन भर देश में खादी के निर्यात शुरू हो जाएंगे। केवीआईसी के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष में कारोबार 52,000 करोड़ का रहा जिसे चालू वित्त वर्ष (2018-19) के अंत तक 70,000 करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य है। सक्सेना ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से खादी पहनने की अपील के बाद खादी की बिक्री में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई है। पहली बार खादी का कारोबार 50,000 करोड़ के पार गया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट