विज्ञापन
Home » Economy » Policykartarpur corridor opening likely to be delayed

भारत ने पाकिस्तान से लिया पुलवामा हमले का बदला, रद्द हो सकती है इस अहम फैसले पर होने वाली बैठक

भारतीय वायुसेना की जैश ए मोहम्मद के ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई

kartarpur corridor opening likely to be delayed

भारतीय वायुसेना ने मंगलवार देर रात करीब 3.30 बजे LOC के पास पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जैश ए मोहम्मद के ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई की। सूत्रों की मानें तो भारतीय वायुसेना का यह हमला पूरी तरह से सफल है और आतंकी कैंप पूरी तरह से तबाह हो गए हैं। बताया जा रहा है  कि सुबह 3 बजे के करीब भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पीओके के पार जाकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला बोला।

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने मंगलवार देर रात करीब 3.30 बजे LOC के पास पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जैश ए मोहम्मद के ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई की। सूत्रों की मानें तो भारतीय वायुसेना का यह हमला पूरी तरह से सफल है और आतंकी कैंप पूरी तरह से तबाह हो गए हैं। बताया जा रहा है  कि सुबह 3 बजे के करीब भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पीओके के पार जाकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला बोला। बताया जा रहा है कि यह हमला पूरी तरह से सफल हुआ है। 12 मिराज विमानों ने करीब 1000 किलो बम गिराए। यूं तो भारत ने पाकिस्तान को पुलवामा आतंकी हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया है लेकिन इस हमले का पूरा असर करतारपुर कॉरिडोर के खुलने पर पड़ सकता है।

 

रद्द हो सकती है करतारपुर कॉरिडोर पर होने वाली बैठक


सूत्रों की मानें तो पाकिस्तान पर किए गए इस एयर स्ट्राइक से 14 मार्च को होने वाली बैठक रद्द हो सकती है। दोनों देशों के बीच करतारपुर कॉरिडोर की तकनीकी और विकास पर चर्चा होनी थी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने साल 2018 में करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास किया था। इसका 40 फीसदी काम पूरा हो चुका है। लेकिन पाकिस्तान की ओर से किए गए पुलवामा आतंकी हमले और भारत की ओर से किए गए एयर स्ट्राइक के चलते इस प्रोजेक्ट पर असर पड़ सकता है। 

 

कॉरिडोर के खुलने की संभावनाओं पर अनिश्चितता के बादल


भारत के एयर स्ट्राइक के बाद करतारपुर कॉरिडोर के खुलने की संभावनाओं पर अनिश्चितता के बादल छा गए हैं। दोनों देशों ने पहले से ही करतारपुर कॉरिडोर के क्रॉसिंग पॉइंट के निर्देशांक साझा किए हैं, जिसके माध्यम से सिख समुदाय को पाकिस्तान के दरबार साहिब गुरुद्वारा तक वीजा-मुक्त प्रवेश प्रदान किया जाएगा। लेकिन दोनों देशों की ओर से की गई कार्रवाई के चलते करतारपुर कॉरिडोर का मामला और अधिक समय ले सकता है।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन