Advertisement
Home » Economy » PolicyKalka-Shimla vistadome coach starts from December 15 for passenger

इस ट्रेन में सफर के दौरान खूबसूरत वादियों का नजारा भी मिलेगा, 15 दिसंबर आप भी कर सकते हैं यात्रा

96 कि.मी लंबे इस ट्रैक पर 162 सुरंगें आपके सफर को बनाएगी यादगार

1 of

 

नई दिल्ली।

शिमला के लिए आपका सफर अब सुहाना होने जा रहा है। वर्ल्ड हेरिटेज कालका-शिमला टॉय ट्रेन में आप सफर के साथ खूबसूरत वादियों का नजारा देख सकते हैं। अब 15 दिसंबर आप इस ट्रेन में सफर कर सकते हैं। विस्टाडोम कोच को 15 दिसंबर तक आम लोगों के लिए चलाए जाने का फैसला लिया है। कालका-शिमला ट्रेन सैलानियों के अनुभव को और बेहतर करने के लिए विस्टाडोम कोच जोड़ा गया है। इस कोच में पारदर्शी छत व खिड़कियां है। इस पारदर्शी कोच में बैठकर पर्यटक कालका से शिमला तक आने वाली वादियों को चारों ओर से निहार सकेंगे। 96 किमी लंबे इस ट्रैक पर सफर के दौरान यात्री वादयों के प्राकृतिक सौंदर्य को और नजदीक से देख सकेंगे। इस विशेष कोच को रेलगाड़ी में जोड़कर शिमला ट्रायल के लिए भेज गया था, जिसे ट्रायल पूरी होने के बाद हरी झंडी मिलने के बाद अब इसे आम लोगों के लिए चलाया जाएगा। हम बता दें कि अभी विस्टाडोम कोच विशाखापट्टनम -अरकू वैली और महाराष्ट्र में दादर- करमाली के बीच पर्यटक के आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। यहां यह ट्रेनें ब्रॉडगेज पर चल रही हैं।

 

एक विस्टाडोम कोच की लागत 10 लाख है

कालका-शिमला के ट्रेन की यह विस्टाडोम कोच पूरी तरह से वातानुकूलित है। छत में 12 एमएम के शीशे लगाए गए हैं। टाॅय ट्रेन के अंदर से खूबसूरत वादियों का दीदार कर पाएंगे। इस वातानुकूलित इन कोचों में लंबे शीशे की खिड़कियां और छत बनी है। पर्यटकों को ध्यान में रखकर सीटों के साथ हवाई जहाज की तरह यात्रियों के खाने के लिए ट्रे लगाए गए हैं। दरवाजों पर स्टील की रेलिंग को भी लगाया है। कोच के अंदर सुंदर दिखने वाली विनाईल फ्लोरिंग लगाई जा रही है। समय के साथ साथ तापमान दिखाने वाला यंत्र भी लगेगा। कोच के अंदर का इंटरियर डिजाईन भी बेहद आकर्षक है। यह कोच 36 सीटर है जिसका लुत्फ बुकिंग के आधार पर ही उठा सकेंगे। नदर्न रेलबे ने आईसीएफ को 100 विस्टाडोम कोच बनाने का आर्डर दिया है। हम बता दें कि कालका-शिमला हैरिटेज ट्रैक एतिहासिक 115 साल पूरे किए हैं।

 

इतना होगा किराया

इस कोच का किराया सामान्य कोच से कुछ अधिक होने की संभावना है । हालांकि रेलवे के पास इस सेक्शन पर चलाने के लिए शानदार डीलक्स कोच भी हैं जिनका कालका से शिमला का किराया 425 रूपए तक है।

अंबाला के डीआरएम दिनेश चंद शर्मा ने कहा कि यह कोच उनके ही सिक लाइन (जहां गाड़ियां ठीक होती हैं) में तैयार की गई है। इसका किराया डीलक्स कोच से कुछ ज्यादा होने की संभावना है। रेलवे अधिकारियों के अनुसार  विस्टाडोम कोच का किराया करीब 500 रूपये रखे जाने की संभावना है।

 

अागे पढ़ें : 162 सुरंगें हैं आकर्षण का केंद्र

 

162 सुरंगें हैं आकर्षण का केंद्र


उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार नेेे कहा कि देश में पहली बार कालका शिमला के बीच विस्टाडोम कोच  नैरोगेज लाइन पर जोड़े जा रहे हैं। इस ट्रेन का सफर 95.5 किलोमीटर का होगा। इस सफर में 162 सुरंग और 889 पुल आएंगे जिसमें काफी सुरंगे हेरिटेज सुरंग में शामिल है।

 

आगे पढ़ें : 

 

9 नवंबर, 1903 को कालका से शिमला रेलमार्ग की शुरुआत हुई थी

 

विश्व धरोहर में शामिल ऐतिहासिक कालका-शिमला रेलवे मार्ग इस महीने 115 साल का हो गया है। 9 नवंबर, 1903 को कालका से शिमला रेलमार्ग की शुरुआत हुई थी। देश-विदेश के सैलानी शिमला आने के लिए इसी रेलमार्ग से टॉय ट्रेन में सफर का आनंद लेते हैं।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss