Home » Economy » PolicyMF welcomes India fiscal deficit target

भारत के वि‍त्‍तीय घाटे के लक्ष्‍य का IMF ने कि‍या स्‍वागत

इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) ने भारत द्वारा तय कि‍ए गए वि‍त्‍तीय घाटे के लक्ष्‍य का स्‍वागत कि‍या है।

1 of

वाशिंगटन। इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) ने भारत द्वारा तय कि‍ए गए वि‍त्‍तीय घाटे के लक्ष्‍य का स्‍वागत कि‍या है। आईएमएफ का कहना है कि‍ देश धीरे-धीरे मगर पुख्‍ता तौर पर फि‍स्‍कल कंसोलि‍डेशन के रास्‍ते पर लौट रहा है। आईएमएफ के डायरेक्‍टर गैरी राइस ने कहा कि‍ हम कह सकते हैं कि‍ हम वित्‍तीय वर्ष 2019 के बजट और वि‍त्‍तीय घाटे के टारगेट का स्‍वागत करते हैं, जो कि‍ जीडीपी का 3.3 फीसदी तय कि‍या गया है। 


टैक्‍स से आय बढ़ने का अनुमान 
उन्‍होंने कहा कि बजट में जो टारगेट रखा गया है वह 2917-18 की आशंकाओं से कम है और आईएमएफ स्‍टाफ भी इसकी सिफारि‍श कर रहा था। राइस ने कहा कि यह लक्ष्‍य इस अनुमान के साथ रखा गया है कि टैक्‍स से होने वाली आय अर्थव्‍यवस्‍था में होने वाले लेनदेन के मुकाबले ज्‍यादा तेजी से बढ़ेगी। इसलि‍ए यह महत्‍वाकांक्षी है क्‍योंकि ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार ये मानकर चल रही है कि सरकार उपभोग के उसी स्‍तर पर पहले के मुकाबले ज्‍यादा टैक्‍स वसूल पाएगी। 


सन 2017 में जीएसटी को लेकर भी कुछ संशय थे। ऐसा लग रहा था कि इसके लागू होने में आने वाली अड़चनों की वजह से टैक्‍स कलेक्‍शन घट सकता है। 
राइस ने कहा कि बजट में कुछ और भी ऐसी पहल हैं, जि‍नको अभी फंड मुहैया नहीं कराया गया है और इनका वि‍त्‍तीय असर क्‍या होगा यह समझने के लि‍ए हमें थोड़ा और नजदीक से चीजों को देखना होगा। 


 

बजट में मोटे तौर पर नहीं हुआ बदलाव 
उन्‍होंने कहा कि बजट में ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य और सामाजि‍क कल्‍याण के मुद्दों पर जोर दि‍या गया है मगर उनके बजट में मोटे तौर पर कोई बदलाव नहीं हुआ है। सरकार ने कि‍सानों को ऐसा समर्थन मूल्‍य देने का वादा कि‍या है जो उनकी लागत से 1.5 गुना ज्‍यादा होगा। इसके अलावा बजट भाषण में 50 करोड़ लाभार्थि‍यों के लि‍ए नेशनल हेल्‍थकेयर स्‍कीम की घोषणा भी की गई है। पि‍छले महीने आईएमएफ ने अपने वर्ल्‍ड इकोनॉमि‍क आउटलुक अपडेट में भारत की वि‍कास दर 2018 में 7.4 और 2019 में 7.8 रहने का अनुमान जताया था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट