बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyइस वंश की 186 पुश्‍तों ने त्रिपुरा पर किया राज, आज भी रुतबा कायम

इस वंश की 186 पुश्‍तों ने त्रिपुरा पर किया राज, आज भी रुतबा कायम

मानिक सरकार ने त्रिपुरा पर 25 साल लंबा शासन किया, लेकिन मानिक्‍य राजवंश ने त्रिपुरा पर 800 साल तक शासन किया....

1 of

नई दिल्‍ली. नार्थ ईस्‍ट में हाल में हुए विधानसभा चुनाव के बाद जिस राज्‍य की सबसे ज्‍यादा चर्चा हो रही है वह है त्रिपुरा। करीब 25 साल पुराना कम्‍यूनिस्‍ट शासन उखाड़ फेंकने के बाद वहां भाजपा ने अपनी सरकार बनाई है। भाजपा की जीत के बाद राज्‍य के कई जिलों से हिंसा होने की खबरें हैं। वामपंथी स्मारकों को ध्वस्त किए जाने की भी खबरें भी मिलीं हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा समर्थकों ने दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में स्थापित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर चलाया। मूर्ति को ध्वस्त किए जाने के बाद वामपंथी दलों में नाराजगी की खबरें भी आ रही हैं। 

 

25 साल तक माणिक सरकार ने किया राज 
विधानसभा चुनाव में भाजपा के हाथों हारने वाले मानिक सरकार ने यहां करीब 25 साल तक शासन किया। हालांकि आपको जानकार यह आश्‍चर्य होगा कि एक फैमिली ऐसी भी है, जिसकी 186 पुश्‍तों ने त्रिपुरा पर शासन किया। आज भी इस परिवार के निशान यहां मौजूद हैं।   

 

ये हैं त्रिपुरा का किंग किंग प्रद्युत बिक्रम मानिक्‍य देब बर्मन
- हम आपको त्रिपुरा के रायॅल किंग प्रद्युत बिक्रम मानिक्‍य देब बर्मन के बारे में बताने जा रहे हैं।
- देवबमर्न नार्थ इस्‍ट के युवाओं की बेहतरी के लिए काम करते हैं।
- जानी मानी बिजनेस मैगजीन फोर्ब्‍स भी उनके ऊपर स्‍टोरी कर चुकी है। 
-  किंग The Northeast Today के नाम से अपनी एक मैगजीन भी चलाते हैं, जहां नॉर्थ ईस्‍ट से जुड़ी खबरों और मुद्दों को जगह दी जाती है।  
- भारत में विलय से पहले करीब 800 सालों तक उनके परिवार ने त्रिपुरा की सत्‍ता पर शासन किया था।
- वह अपने खानदान के 186वें वारिस हैं।    

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट