Home » Economy » PolicyKnow about International yoga day

21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस?

बीते चार साल से 21 जून को अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जाता है।

Know about International yoga day

नई दिल्‍ली. बीते चार साल से 21 जून को अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जाता है। दुनिया भर के कई देशों में लोग योग किया जाता है लेकिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरुआत भारत की पहल पर हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में 27 सितंबर 2014 को दुनियाभर में योग दिवस मनाने का आह्वान किया था। इस पर संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का औपचारिक एलान किया। 

 

 

कैसे हुई अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस की शुरुआत?
प्रधानमंत्री के आह्वान पर संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने 11 दिसंबर 2014 को एलान किया कि 21 जून का दिन दुनिया में हर साल योग दिवस के रूप में मनाया जाएगा। 

 

21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस?
21 जून के दिन को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए चुनने की भी एक खास वजह है। दरअसल, यह दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन है, जिसे ग्रीष्म संक्रांति भी कह सकते हैं। भारतीय संस्कृति के दृष्टिकोण से, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है और सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी है। इसी कारण 21 जून का दिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए निर्धारित किया गया था। 

 

पहले अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस पर बना था रिकार्ड
21 जून 2015 को पहला अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया गया था, जिसमें मोदी के नेतृत्‍व में 35 हजार से अधिक लोगों और 84 देशों के प्रतिनिधियों ने दिल्‍ली के राजपथ पर योग के 21 आसन किए थे। ​इस समारोह ने दो गिनीज रिकॉर्ड्स हासिल किए। पहला रिकार्ड 35,985 लोगों के साथ सबसे बड़ी योग क्लास और दूसरा चौरासी देशों के लोगों द्वारा इस आयोजन में एक साथ भाग लेने का बना। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss