बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyदिल्‍ली में 1 अप्रैल से यूरो- 6 पेट्रोल-डीजल की बिक्री, कम होगा एयर पॉल्‍युशन

दिल्‍ली में 1 अप्रैल से यूरो- 6 पेट्रोल-डीजल की बिक्री, कम होगा एयर पॉल्‍युशन

दिल्‍ली में रविवार (1 अप्रैल) से यूरो-6 ग्रेड के पेट्रोल-डीजल की बिक्री शुरू हो गई।

1 of

नई दिल्ली. बढ़ते एयर पॉल्‍युशन के बीच दिल्‍ली में रविवार (1 अप्रैल) से यूरो-6 ग्रेड के पेट्रोल-डीजल की बिक्री शुरू हो गई। अल्‍ट्रा क्‍लीन यूरो-6 फ्यूल के लिए कोई अतिरिक्त कीमत भी नहीं देनी है। सरकारी तेल कंपनियां दिल्ली में यूरो-6 ग्रेड डीजल और पेट्रोल की आपूर्ति करेंगी। दिल्ली देश का पहला राज्य होगा जहां यह अल्‍ट्रा क्‍लीन फ्यूल मिलेगा।

 

 

आईओसी के निदेशक (रिफाइनरीज) बीवी राम गोपाल के अनुसार, रविवार से राष्‍ट्रीय राजधानी के 391 पेट्रोल  पम्‍प पर  बीएस-6 (यूरो- 6 इमिशन स्‍टैंडर्ड के बराबर) पेट्रोल और डीजल की सप्‍लाई शुरू हो जाएगी। जबकि अभी यूरो-4 ग्रेड की बिक्री हो रही थी। सुप्रीम कोर्ट ने गाजियाबाद, नोएडा, गुड़गांव और फरीदाबाद समेत समूचे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 1 अप्रैल, 2019 से बीएस-6 ईंधन को उतारने की समयसीमा तय की है।

 

पूरे देश में 2020 से मिलेगा यूरो-6 फ्यूल 
एनसीआर के शहर जैसेकि नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम व फरीदबाद और मुंबई, चेन्‍नई, बेंगलुरु, हैदराबाद व पुणे समेत 13 शहरों में अगले साल 1 जनवरी से यूरो-6 ग्रेड फ्यूल की सप्‍लई शुरू हो जाएगी। 1 अप्रैल 2020 से पूरे देश में यूरो-6 ग्रेड ईंधन की आपूर्ति की जाएगी। 2015 में, सरकार ने 1 अप्रैल 2020 से यूरो- 6 इमिशन स्‍टैंडर्ड लागू करने का फैसला किया था।

 

50 पैसा प्रति लीटर बढ़ती है कॉस्‍ट

राम गोपाल ने कहा कि तेल कंपनियों ने क्‍लीनर फ्यूल के प्रोडक्‍शन के लिए भारी-भरकम निवेश किया है। लेकिन कंज्‍यूमर्स पर इसका किसी भी तरह का भार नहीं  पड़ेगा। फिलहाल, कस्‍टमर से लागत रिकवर करने को लेकर हमारा कोई प्‍लान नहीं है। हम कस्‍टमर पर इसे पासऑन नहीं करने जा रहे हैं। कॉस्‍ट की बात करें तो यूरो-6 फ्यूल की लागत तकरीबन 50 पैसा प्रति लीटर बढ़ जाती है। जब पूरे देश में यूरो-6 ग्रेड फ्यूल लागू हो जाएगा, तक हम कॉस्‍ट रिकवरी मैकेनिज्‍म पर काम करेंगे। 

 

इन रिफाइनरी से पूरी होगी दिल्‍ली की डिमांड  
दिल्‍ली की सालाना 9.6 लाख टन पेट्रोल और 12.65 लाख टन डीजल की कंज्‍यूमर डिमांड पूरी करने के लिए यूपी में मथुरा रिफाइनरी, हरियाणा में पानीपत रिफाइनरी, मध्‍य प्रदेश में बीना रिफाइनरी और पंजाब में भटिंडा रिफाइनरीश में यूरो-6 ग्रेड फ्यूल का प्रोडक्‍शन शुरू हो गया है। क्‍लीन फ्यूल के प्रोडक्‍शन के लिए पानीपत रिफाइनरी पर करीब 183 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। अन्‍य दूसरी रिफाइनरी को अपग्रेड करने का काम चल रहा है। 

 

दिल्‍ली में कम होगा एयर पॉल्‍युशन 
भारत ने 2015 में यूरो-4 ग्रेड से सीधे यूरो-6 ग्रेड फ्यूल पर शिफ्ट होने का फैसला किया। इसे पूरे देश में अप्रैल 2020 से लागू कर दिया जाएगा। दिल्ली में एयर पॉल्‍युशन का स्तर काफी ऊंचा है। आमतौर पर यह खतरनाक स्तर के ऊपर ही रहता है। इसलिए राष्ट्रीय राजधानी में देश के दूसरे भागों से पहले स्वच्छ ईंधन की व्यवस्था की गई है।  यूरो-6  ग्रेडफ्यूल में सल्‍फर 10 पीपीएम (पार्ट्स पर मिलियन) होता है, जबकि यूरो-4 ग्रेड फ्यूल में यह 50 पीपीएम है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट