बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyबचे हैं बस कुछ दिन, 31 मार्च से पहले निपटा लें ये 9 जरूरी काम

बचे हैं बस कुछ दिन, 31 मार्च से पहले निपटा लें ये 9 जरूरी काम

31 मार्च आने में बस कुछ ही दिन बचे हैं। उसके बाद नया वित्‍त वर्ष 2018-19 शुरू हो जाएगा।

1 of

नई दिल्‍ली. 31 मार्च आने में बस कुछ ही दिन बचे हैं। उसके बाद नया वित्‍त वर्ष 2018-19 शुरू हो जाएगा। साथ ही लागू हो जाएंगे नए वित्‍त वर्ष के लिए बजट में प्रस्तावित नए प्रावधान। इन प्रावधानों के लागू होने से पहले यानी 31 मार्च तक के बचे समय में कुछ जरूरी काम निपटा लें। वर्ना आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। आइए आपको बताते हैं कि कौन से काम आपको इस माह के खत्‍म होने से पहले निपटा लेने चाहिए- 

 

टैक्‍स की कर लें बचत

नागरिकों को कम इनकम टैक्‍स बचे, इसके लिए इनकम टैक्‍स एक्‍ट कुछ टैक्‍स बेनिफिट्स की पेशकश करता है। इनके इस्‍तेमाल से आप टैक्‍स में बचत कर सकते हैं। इनकम टैक्‍स एक्‍ट का सेक्‍शन 80C आपको 1.5 लाख रुपए तक की टैक्‍स सविंग की पेशकश करता है। इसका लाभ लेकर आप 45,000 रुपए तक का टैक्‍स बचा सकते हैं। लेकिन इसका लाभ लेने के लिए आपको इसका इस्‍तेमाल 31 मार्च तक कर लेना होगा। 

 

आगे पढ़ें- और क्‍या करना है जरूरी 

नए इंप्‍लॉयर को दे दें फॉर्म 12B

अगर आपने मौजूदा वित्‍त वर्ष 2017-18 में जॉब बदली है तो आपको अपनी पिछली आमदनी, टैक्स कटौती आदि के बारे में अपने नए इंप्‍लॉयर को 31 मार्च तक जानकारी दे देनी चाहिए। इसके लिए फॉर्म 12B का इस्‍तेमाल होगा। आपकी पिछली जॉब में कटे टीडीएस की के हिसाब से ही नई जॉब में आपकी सैलरी पर कटने वाले सही टीडीएस का अनुमान लग सकेगा। अगर आप फॉर्म 12B नहीं देते हैं तो हो सकता है आपका ज्‍यादा टीडीएस कट जाए। 

 

आगे पढ़ें- ये काम भी है लिस्‍ट में 

किराये पर TDS 

अगर आप हर माह 50,000 रुपए से ज्‍यादा किराया देते हैं तो एक साल (अप्रैल-मार्च) में दिए गए कुल किराए पर 5 फीसदी टैक्‍स चुकाना अनिवार्य है। इस टैक्‍स को जमा करने की डेडलाइन भी 31 मार्च 2018 है। 

 

आगे पढ़ें- भर दें पिछला रिटर्न

अभी तक नहीं भरा पिछला रिटर्न तो यही है सही वक्‍त

अगर आपने अभी तक 2015-16 और 2016-17 वित्‍त वर्षों के लिए इनकम टैक्‍स रिटर्न अभी तक फाइल नहीं किया है तो आपके पास 31 मार्च 2018 तक का ही वक्‍त है। इस डेडलाइन के गुजरने के बाद ऐसा नहीं हो सकेगा। यानी आप इन दोनों सालों के लिए रिटर्न फाइल नहीं कर पाएंगे। इसलिए डेडलाइन खत्‍म होने से पहले इस काम को निपटा लें वर्ना आपको इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के नोटिस का सामना भी करना पड़ सकता है। 

 

आगे पढ़ें- सुधार लें ITR की गलती 

सुधार लें ITR में की गलती

भारतीय नागरिकों के पास विकल्‍प है कि अगर ITR भरने में कोई गलती हो गई है, तो वे उसे सुधार सकते हैं। हालांकि इसके लिए एक तय अवधि है। इस वक्‍त आपके ऐसा 31 मार्च तक कर लेना है। इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 139(5) के मुताबिक, कोई व्‍यक्ति जिस असेसमेंट ईयर के लिए ITR भरा है, उस ईयर के खत्‍म होने के बाद 1 साल के अंदर रिवाइज्‍ड रिटर्न फाइल कर सकता है। 

 

आगे पढ़ें- कुछ सेविंग्‍स भी हैं लिस्‍ट में 

NPS में है खाता तो जमा कर दें 1000 रुपए 

नेशनल पेंशन स्‍कीम (NPS) में खाता रखने वालों के लिए अनिवार्य है कि एक वित्‍त वर्ष के अंदर उसमें कम से कम 1000 रुपए जमा किए जाएं। अगर आपने इस साल ये राशि जमा नहीं की है तो 31 मार्च तक ऐसा कर दें वर्ना आपका अकाउंट फ्रीज भी किया जा सकता है। उसके बाद 100 रुपए का जुर्माना भरने के बाद ही आपका अकाउंट एक्टिव होगा। 

 

आगे पढ़ें- सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट होल्‍डर्स के लिए है जरूरी

सुकन्या समृद्धि स्कीम 

इस स्‍कीम में खाता खोलने वालों के लिए भी एक वित्‍त वर्ष में 1000 रुपए जमा करने का प्रावधान है। अगर आपने 31 मार्च तक यह राशि जमा नहीं की तो आपको 50 रुपए जुर्माना भरना पड़ सकता है। 

 

आगे पढ़ें- PPF वाले दें ध्‍यान

PPF में भी डाल दें न्‍यूनतम सालाना डिपॉजिट 

इस अकाउंट में भी एक वित्‍त वर्ष के अंदर जमा की जाने वाली राशि सुनिश्चित है, जो कि न्‍यूनतम 500 रुपए है। वित्‍त वर्ष के अंत में यह राशि जमा न होने पर अकाउंट इनएक्टिव हो जाएगा और 50 रुपए जुर्माना देने पर ही फिर से एक्टिव होगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट