Home » Economy » Policyopportunity to become bank mitra for SBI

बैंक मित्र बनकर होगी रेग्युलर कमाई, SBI सहित दूूसरे बैंक में कर सकते हैं अप्लाई

देश के प्रमुख राज्यों में अभी करीब 90 हजार बैंक मित्र काम कर रहे हैं।

1 of

नई दिल्‍ली. अगर आप किसी रोजगार की तलाश में हैं तो आपके पास बैंक मित्र बनने का मौका है।  SBI सहित देश के प्रमुख बैंक मित्र को उनके काम के लिए एक फिक्‍स सैलरी के साथ इंसेंटिव भी देते हैं। आप नजदीकी SBI या दूसरे बैंक की ब्रांच में जाकर इस बारे में ज्‍यादा डिटेल हासिल कर सकते हैं।  

 

क्‍या होते हैं बैंक मित्र

बैंक ग्रामीण और दूर-दराज के इलाकों में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए बैंक मित्र बनाते हैं। बैंक मित्र बिजनेस कॉरस्पॉडेंट की तरह काम करते हैं। इनका काम लोगों के बैंक अकाउंट खोलने से लेकर पैसे जमा कराने और पैसे निकालने तक में मदद करने का होता है। इसके अलावा, बैंक मित्र अन्‍य फाइनेंशियल प्रोडक्ट भी बेच सकते हैं। बैंक इसके लिए उन्हें फिक्स सैलरी देते हैं, जो इस वक्‍त 2000 रुपए से लेकर 5000 रुपए तक है। साथ ही, हर ट्रांजैक्शन पर कमीशन भी मिलता है। देश में इस वक्‍त 1.25 लाख बैंक मित्र हैं। 

 

कौन बन सकता है बैंक मित्र

कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 साल से ज्यादा है, वह  बैंक मित्र बन सकता है। इनमें रिटायर्ड बैंक कर्मचारी, रिटायर्ड शिक्षक, सेना के रिटायर्ड व्यक्ति, रिटायर्ड सरकारी इंप्‍लॉई, किराना या मेडिकल स्‍टोर के मालिक, सरकारी स्‍मॉल सेविंग्‍स स्‍कीम्‍स या इंश्‍योरेंस कंपनियों के एजेंट, पेट्रोल पंप ओनर, रिटायर्ड पोस्‍ट मास्‍टर, NGO आदि शामिल हैं। पूरी डिटेल यहां से ली जा सकती है- 

https://www.sbi.co.in/portal/web/agriculture-banking/business-correspondent-bc-arrangement

 

आगे पढ़ें- किन डॉक्‍युमेंट्स की होगी जरूरत

इन डॉक्‍युमेंट की होगी जरूरत 

- आईडी प्रूफ (आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस के अलावा कोई भी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त आईडी)
- रेजिडेंशियल प्रूफ, 
- बिजनेस एड्रेस प्रूफ (इलेक्ट्रिसिटी बिल, टेलिफोन बिल)
- 10वीं की मार्कशीट
- कैरेक्टर सर्टिफिकेट (पुलिस द्वारा वैरिफाइड)
- बैंक अकाउंट डिटेल, पासबुक, कैंसिल्ड चेक
- दो पासपोर्ट साइज फोटो

 

आगे पढ़ें- ये सर्विस देते हैं बैंक मित्र 

देते हैं ये सर्विसेज

बैंक मित्र प्रमुख रुप से कस्टमर को ये सर्विसेज देते हैं..

 

1. सेविंग बैंक अकाउंट खोलना
2. आरडी और एफडी अकाउंट
3. कैश डिपॉजिट और विदड्रॉल सर्विस
4. ओवरड्रॉफ्ट सर्विस
5. किसान क्रेडिट इश्यू करना
6. इन्श्योरेंस प्रोडक्ट और म्युचुअल फंड प्रोडक्ट की बिक्री
7. पेंशन अकाउंट
8. हर तरह के बिल का पेमेंट और रीचार्ज
9. टिकट बुकिंग, पैन कार्ड सर्विस
10. सभी तरह के इन्श्योरेंस के प्रीमियम का कलेक्शन आदि 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss