Home » Economy » PolicyBMW salesman get huge package - BMW, मर्सिडीज के सेल्स मैन को मिलता है बड़ा पैकेज

BMW, मर्सिडीज के सेल्स मैन को मिलता है 8 लाख तक का पैकेज, कंपनियां ढूढंती हैं खास स्किल

फरारी हो, मर्सिडीज हो या BMW ये सभी लग्जरी कार कंपनियां अपने सेल्समैन उसकी खास स्किल के लिए इस तरह का पेमेंट करती हैं।

1 of

नई दिल्ली। सेल्समैन को सालाना 8 लाख रुपए का पैकेज मिले तो ये भारत में आसान नहीं लगता है। लेकिन कई लग्जरी ऑटो कंपनियां अपने सेल्समैन को इस तरह का खास पैकेज देती है। जी हां चाहे फरारी हो, मर्सिडीज हो या BMW ये सभी लग्जरी कार कंपनियां अपने सेल्समैन उसकी खास स्किल के लिए इस तरह का पेमेंट करती हैं। यहीं नहीं कंपनियां इस तरह की क्षमता रखने वाले लोगों को खास ट्रेनिंग भी देती हैं। आइए जानते हैं कि आखिर में इन सेल्समैन में ऐसी क्या खूब होती है जिसकी वजह से उन्हें अच्छा पैकेज मिलता है।

 

कितना कमाते हैं लग्जरी कार के सेल्समैन

 

नौकरी डॉट कॉम और indeed जॉब पोर्टल के अनुसार लग्जरी कार कंपनियों के सेल्सपर्सन की सैलरी और इंसेंटिव सामान्य कॉरपोरेट मैनेजर से ज्यादा होता है। वह महीने में 50 से 80 हजार रुपए तक सैलरी और इंसेटिव लेते हैं। इनकी सालाना सैलरी पांच लाख रुपए से शुरू होकर 8,00,000 रुपए तक होती है। साथ ही उन जगहों पर काम कर चुके कई सेल्समैन ने सोशल मीडिया पर बताया है कि उन्हें 2-5 हजार हर सेल पर कमा लेते हैं।

 

सालाना सैलरी - 5 से 8 लाख रुपए

 

आगे पढ़ें - क्या होनी चाहिए क्वालिफिकेशन

 

ये होनी चाहिए क्वालिफिकेशन

 

 

लग्जरी गाड़ी के सेल्समैन का ग्रेजुएट होना जरुरी है। कई बार कंपनियां एमबीए डिग्री भी सेल्समैन जॉब के लिए मांगती हैं। इसके अलावा 1 से 3 साल का अनुभव भी मांगती है। लोगों को मैनेज करना, अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स होना जरूरी है।

 

अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ बेहद जरुरी

 

उनकी इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषा में अच्छी पकड़ होना बेहद जरुरी है। ताकि, आप क्लाइंट के साथ अंग्रेजी में बातें कर सकें और कार के फीचर्स समझा सकें। इसके अलावा कंप्यूटर की जानकारी अनिवार्य है।

 

ज्यादातर कस्टमर काफी अमीर होते हैं

 

लग्जरी कार कंपनियों के ज्यादातर कस्टमर अमीर होते हैं। इसमें बिजनेस क्लास ज्यादा होता है। साथ ही ये कस्टमर पैसे से ज्यादा कम्फर्ट और लग्जरी पर फोकस करते हैं। ऐसे में उन्हें ऐसे सेल्सपर्सन की जरुरत होती है, जो उनकी जरुरत के अनुसार सोच सके, साथ ही ऑटो वर्ल्ड से अपडेट भी रहे। इसीलिए कंपनियां खास तौर से एक महीने से लेकर एक साल तक की ट्रेनिंग सेल्स पर्सन को देती हैं। जिससे वह कस्टमर के सभी मानदंडों पर खरे उतर सकें।

 

आगे पढ़ें - कंपनियां देती है सेल्समैन को ट्रेनिंग

 

कंपनियां देती है ट्रेनिंग

 

ऑडी, मर्सिडीज, बीएमडल्ब्यू , फरारी जैसी कार बनाने वाली कंपनियां सेल्समैन रखने से पहले ट्रेनिंग देती है। इन कंपनियों के कार शोरुम में काम करने के लिए इन कंपनियों की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसमें अपने बारे में तमाम जानकारी देनी होगी। कंपनी सेलेक्ट करती है कि किसे सेल्समैन की जॉब के लिए ट्रेनिंग देनी है और किसे नहीं। कंपनी की तरफ से ट्रेनिंग के लिए कॉल आता है। यहां इंटरव्यू के बाद सेलेक्शन होता है। सेलेक्शन के बाद अलग-अलग कंपनी 1 महीने से लेकर एक साल तक की ट्रेनिंग देती है। इसके बाद आपकी ये कंपनियां जॉब अपने कार शोरूम में लगाती हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट