बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyराष्‍ट्रपति‍ के अभि‍भाषण के साथ बजट सत्र 2018 शुरू, 2022 तक कि‍सानों को दाेगुनी आय का वादा

राष्‍ट्रपति‍ के अभि‍भाषण के साथ बजट सत्र 2018 शुरू, 2022 तक कि‍सानों को दाेगुनी आय का वादा

बजट सत्र आज से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू हो गया है।

बजट सत्र 2018 - राष्‍ट्रपति‍ राम नाथ कोविंद के अभि‍भाषण के साथ आज से बजट सत्र शुरू - live budget session start with president speech

नई दि‍ल्‍ली. बजट सत्र आज से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू हो गया है। राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ सरकार इकॉनोमिक सर्वे भी पेश करेगी। राष्ट्रपति‍ ने कहा कि‍ 2022 तक कि‍सानों की आय को दोगुना करने के लि‍ए सरकार प्रति‍बद्ध है।राष्ट्रपति‍ ने कहा कि‍ 2022 तक कि‍सानों की आय को दोगुना करने के लि‍ए सरकार प्रति‍बद्ध है।

 

बजट सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी दलों के नेताओं  से सत्र को सुचारू रूप से चलाने की अपील की है। मोदी सरकार की यह चौथा पूर्ण बजट है। जीएसटी लागू होने के बाद यह पहला बजट है, वहीं 2019 लोकसभा चुनाव से पहले आखिरी पूर्ण बजट है। इस लिहाज से बजट काफी अहम बताया जा रहा है। बजट 1 फरवरी को पेश होगा।

 

राष्‍ट्रपति‍ ने गांव और कि‍सानों के लि‍ए कहीं ये बातें

-भारत के 82 फीसदी गांव अब सड़कों से जुड़ चुके हैं। 
-सरकार का मकसद है कि वर्ष 2019 तक सभी गांवों को सड़कों से जोड़ दि‍या जाए। 
-उन्‍होंने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 5.71 करोड़ कि‍सानों को कवर कि‍या गया है।

-राष्ट्रपति‍ ने कहा कि‍ 2022 तक कि‍सानों की आय को दोगुना करने के लि‍ए सरकार प्रति‍बद्ध है।

-भारत नेट के तहत 2,50,000 ग्राम पंचायतों को ब्रॉडबैंड कनेक्‍शन से लैस कर दि‍या जाएगा। 

-मंडि‍यों को ऑनलाइन जोड़ने का कार्य प्रगति‍ पर है। 
-सरकार का मकसद कि‍सानों की लागत कम करना है। 

 

जानिये बजट 2018 से उम्मीदें से जुड़ी ताज़ा खबरें

 

और क्‍या कहा...

-देश भर में 2.70 लाख कॉमन सर्वि‍स सेंटर्स खोले गए हैं। इन सेटर्स के जरि‍ए दूरस्‍थ इलाकों में विभि‍न्‍न सेवाओं को कम दरों पर डि‍जि‍टल सर्वि‍स उपलब्‍ध कराई जा रही है।

-राष्‍ट्रपति‍ ने कहा, न्‍यू इंडि‍या वि‍जन के लि‍ए 2018 महत्‍वपूर्ण वर्ष है। 
-सरकार कमजोर तबके के लोगों के सशक्‍ति‍करण के लि‍ए काम कर रही है।

-जनधन योजना की बदौलत महि‍लाओं की सेविंग में 40 फीसदी का इजाफा हो गया है।

-जनधन योजना के तहत अब तक 31 करोड़ खाते खोले जा चुके हैं।

-प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 4 लाख करोड़ रुपए का लोन दि‍या गया है।

-मुझे उम्‍मीद है कि‍ ट्रि‍पल तलाक बि‍ल को जल्‍द ही पास कि‍या जाएगा ताकि‍ मुस्‍लि‍म महि‍लाएं गर्व और बि‍ना डर के अपनी जिंदगी जी सकें।

-हम अल्‍पसंख्‍यकों को खुश करने नहीं बल्‍कि‍ उन्‍हें सशक्‍त करने में वि‍श्‍वास रखते हैं। 
-सरकार 2022 तक सबको घर देने के अपने वादे पर काम कर रही है। 
-हर तरह के हायर एग्‍जाम के लि‍ए नेशनल टेस्‍टि‍ंग एजेंसी अप्रूव कर दी गई है। 
-सरकार लेबर लॉ को सुधारने की दि‍शा में भी काम कर रही है।

-शि‍क्षा के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ठ संस्‍थानों को 100 अरब की मदद दी जाएगी। 
-भीम मोबाइल एप की बदौलत डि‍जि‍टल ट्रांजैक्‍शन में बढ़ोतरी हो रही है। 
-रेलवे में नि‍वेश को बढ़ावा दि‍या जा रहा है। 
-मुंबई - अहमदाबाद बुलेट ट्रेन पर काम शुरू हो गया है।

-सरकार ने मजदूरों का न्‍यूनतम वेतन 40 फीसदी से ज्‍यादा बढ़ाया।
-हमारा देश युवा देश है। मेरी सरकार ने स्‍टार्टअप इंडि‍या, स्‍टैंड अप इंडि‍या, स्‍कि‍ल इंडि‍या और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को शुरू कर देश में युवाओं के सपनों को पूरा करने में मदद की है। 
-जवाहर लाल नेहरू पोर्ट पर एसईजेड का काम शुरू हो गया है। 
-भारत अब बि‍जली का एक्‍सपोर्ट भी कर रहा है। 
-जल्‍द ही 18 हजार गांवों के इलेक्‍ट्रीफि‍केशन का काम पूरा हो जाएगा। 
-पावर सेक्‍टर में 1.5 लाख करोड़ की परि‍योजनाएं चल रही हैं।
-अगरतला रेल लिंक पर भी काम चल रहा है।

-कशमीर मुद्दे पर बातचीत के सभी रास्‍ते खुले रखे हैं। 
-वर्ष 2014 से अब तक 90 हजार भारतीयों को वि‍दशों से सुरक्षि‍त लाया गया। 
-ग्‍लोबल स्‍लो डाउन के बावजूद भारत ने अच्‍छी तरक्‍की हासि‍ल की।
-सरकार बैंकि‍ंग सि‍स्‍टम में ट्रांसपेरेंसी लाने को लेकर प्रति‍बद्ध है। 
-मेक इन इंडि‍या को बढ़ावा देने के लि‍ए नई पॉलि‍सी लाई गई है।

-बीते 3.5 सालों में महंगाई, वि‍त्‍तीय घाटा और सीएडी कम हो गया है। 
-ईज ऑफ डुइंग में सुधार के लि‍ए राज्‍यों के साथ लगातार काम चल रहा है। 

 

मोदी ने क्‍या कहा

 

बजट सत्र से पहले नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये सत्र महत्वपूर्ण है, पूरा विश्व भारत की अर्थव्यवस्था के प्रति आशावान हैं। भारत की प्रगति पर दुनिया की सभी एजेंसियों ने मुहर लगाई है। मोदी ने कहा कि ये बजट देश की तेज गति से आगे बढ़ रही अर्थव्यवस्था को और भी ऊर्जा देगा।

 

Get Latest Update on Budget 2018 in Hindi

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट