बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyसिक्‍का उछालकर भारत ने पाक से जीती थी यह बग्‍घी, राष्‍ट्रपति करते हैं सवारी

सिक्‍का उछालकर भारत ने पाक से जीती थी यह बग्‍घी, राष्‍ट्रपति करते हैं सवारी

पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गणतंत्र दिवस समारोह में बग्‍घी में सवार होकर जाने की परंपरा को दोबारा शुरू किया था।

राष्ट्रपति की इस बग्‍घी के लिए भि‍ड़ गए थे भारत-पाक- Know about the president carriage which India had won by flipping the coin

नई दिल्ली. 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियां जोरों पर हैं। पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने कार्यकाल के दौरान इस समारोह की एक पुरानी परंपरा को दोबारा शुरू किया था। यह परंपरा थी बग्‍घी में सवार होकर समारोह में जाने की। मुखर्जी ने 2014 में बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी से बग्घी पर बैठने की दोबारा परंपरा शुरू की थी। 1950 में देश के पहले गणतंत्र दिवस समारोह में देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद बग्घी में ही सवार होकर समारोह में पहुंचे थे।

 

करीब 30 वर्षों से सुरक्षा कारणों के चलते इस बग्घी का इस्‍तेमाल नहीं हो रहा था। इसकी जगह राष्ट्रपति कार से सार्वजनिक समारोहों में आते थे। 2016 में भी मुखर्जी बजट सत्र के पहले दिन पारंपरिक बग्घी पर सवार होकर संसद के दोनों सदनों को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे। 

 

यहां जिस बग्‍घी की बात हम कर रहे हैं, उस बग्‍घी का इतिहास भी काफी रोचक है। इस बग्‍घी को भारत ने बंटवांरे के बाद पाकिस्‍तान से सिक्‍का उछालकर जीता था। आइए आपको बताते हैं कि क्‍यों आई यह नौबत क्‍या है इस बग्‍घी का इतिहास- 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट