बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyपायलट बनने के इंडिया में हैं 5 तरीके, 2 लाख रुपए महीने मिलती है सैलरी

पायलट बनने के इंडिया में हैं 5 तरीके, 2 लाख रुपए महीने मिलती है सैलरी

पायलट बनना चाहते हैं तो इंडिया में सेना में भर्ती होने से लेकर कॉमर्शियल पायलट बनने तक के 5 विकल्‍प मौजूद है..

1 of

नई दिल्‍ली। बचपन में बहुत से लोगों को सपना पायलट बनकर हवाई जहाज उड़ाने का होता है। हालांकि सही गाइ‍डेंस और जानकारी के कमी के चलते अक्‍सर आपका यह सपना मर जाता है। आज हम आपको बताते हैं कि अगर आप पायलट बनाना चाहते हैं तो आपके पास कौन कौन से विकल्‍प हैं। अगर आप कॉमर्शियल पायलट बनते हैं तो आपको आखिर कितनी सैलरी मिलती है। भारत में 5 तरीकों से पायलट बना जा सकता है...

 1. भारत में पायलट बनने के अलग अलग 5 रास्‍ते हैं।
इसमें सेना की एनडीए और सीडीएस की बेहद कठिन परीक्षा पास करने से लेकर कॉमर्शियल प

यलट के लिए 40 से 50 लाख रुपए की महंगी ट्रेनिंग के ऑप्‍शन मौजूद हैं।   


हालांकि अगर आप कम पैसों में पायलट बनाना चाहते हैं तो आपको सेना से जुड़ी कठिन परीक्षा पास करनी होगी।

 

आगे पढ़ें- पहले तरीके के बारे में.... 


 

नंबर-1: एयरफोर्स
इसके तहत आप फाइटर, हेलिकॉप्‍टर और ट्रांसपोर्ट पायलट बनते हैं।   
 
इन एग्‍जाम्‍स को पास करके जा सकते हैं एयरफोर्स में

  1. NDA
  2. CDSE
  3. NCC
  4. AFCAT(SSC)
  5. Fast track selection


 

नंबर-2: इंडियन नेवी
इसके तहत आप भी आप नेवी की फाइटर ब्रांच में फाइटर, हेलीकॉप्‍टर और ट्रांसपोर्ट पायलट बनते हैं।
 
इन एग्‍जाम्‍स को पास करके बन सकते हैं नेवी में पायलट   

  1. NDA
  2. CDSE
  3. Indian navy recruitment(SSC)


 

नंबर-3: इंडियन आर्मी
आप आर्मी की एविएशन कॉर्प के तहत हेलीकॉप्‍टर पायलट बनते हैं।  
 
इन एग्‍जाम्‍स को पास करके बन सकते हैं आर्मी के पायलट

  1. NDA
  2. CDSE
  3. Indian army recruitment


 

नंबर-4: इंडियन कोस्‍टगार्ड
इसके तहत आप हेलीकॉप्‍टर और ट्रासपोर्ट पायलट बन सकते हैं।
 
इस एग्‍जाम को पास करके बन सकते हैं कोस्‍ट गार्ड के पायलट

  1. Indian coast guard recruitment (Assistant Commandant “Pilot/navigator”)  

 

 

नंबर-5: कॉमर्शियल पायलट या सिविल एविएशन  
इसके लिए देश भर में मौजूद सिविल एविशन इंस्‍टीट्यूट्स में एडमीशन लेना पड़ेगा।
एक कॉमर्शियल पायलट की फुल ट्रेनिंग के लिए करीब 40 से 50 लाख रुपए का खर्च आता है।

 

इसके तहत कई स्‍टेप्‍स में ट्रेनिंग लेनी पड़ती है।

  1. इसके तहत सबसे पहले आपको CPL (कॉमर्शियल पायलट लाइसेंस) की ट्रेनिंग मिलती है।
  2. इसके बाद FROZEN ATPL और फिर ATPL की ट्रेनिंग मिलती है।  
  3. CPL लेवल की स्क्लि पर एविएशन कंपनियां आपको रिक्रूट नहीं करेंगी।
  4. आपके ATPL ट्रेनिंग जरूरी है। यहां ATPL से मतलब एयरलाइंस ट्रांसपोर्ट पायलट लाइसेंस है। 


 

कॉमर्शियल पायलट बनना चाहते हैं तो इन इंस्‍टीट्यूट में एडमीशन ले सकते हैं।

 

  1.  मध्‍य प्रदेश फ्लाइंग क्‍लब
  2.  इंदिरा गांधी राष्‍ट्रीय उड़ान एकेडमी, रायबरेली, यूपी
  3.  फ्लाइंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट , कोलकाता
  4.  गर्वेमेंट एविएशन ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, भुवनेश्‍वर
  5.  करनाल एविएशन क्‍लब, हरियाणा
  6.  गर्वेमेंट फ्लाइंग क्‍लब, यूपी
  7.  स्‍कूल ऑफ एविएशन साइंस एंड टेक्‍नोलॉजी, नई दिल्‍ली
  8.  स्‍टेट सिविल एविएशन,  कानपुर और वाराणसी
  9.  राजस्‍थान स्‍टेट फ्लाइंग स्‍कूल, जयपुर
  10.  गर्वेमेंट फ्लाइंग  ट्रेनिंग स्‍कूल, बेंगलुरु, कर्नाटक   
  11.   आंध्र प्रदेश फ्लाइंग क्‍लब, हैदराबाद
  12.  असम फ्लाइंग क्‍लब,  गुवाहाटी, असम  
  13.  बिहार फ्लाइंग इंस्टीट्यूट, पटना, बिहार  

 

 

कॉमर्शियल पायलट को कितनी मिलती है सैलरी
आर्मी, नेवी या कोस्‍टगार्ड में सैलरी रैंक के हिसाब से मिलती है जो अगल अलग हो सकती है।
वहीं कॉमर्शियल पायलट को 1.5 लाख रुपए की एवरेज सैलरी मिलती है।
हाल में एयर इंडिया ने ओर से निकाली गई को-पायलट की वैकेंसी में कंपनी ने 2.1 लाख रुपए महीने की सैलरी मेंशन की थी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss