Home » Economy » PolicyIndian Oil starts doorstep delivery of diesel

पेट्रोल-डीजल की भी होगी होम डिलिवरी, इस कंपनी ने शुरू की सर्विस

भारत में अब डीजल की होम डिलिवरी शुरू हो गई है।

1 of

नई दिल्‍ली. पिज्‍जा-बर्गर की होम डिजिवरी के बारे में हम सभी जानते हैं, लेकिन क्‍या आपने डीजल की भी घर के दरवाजे पर डिलिवरी के बारे में सुना है, शायद नहीं। लेकिन भारत में अब डीजल की होम डिलिवरी शुरू हो गई है। इसे सरकारी कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने शुरू किया है। कंपनी का कहना है कि जल्‍द ही पेट्रोल के लिए भी यह सर्विस शुरू की जाएगी। 

 

ट्रक पर ही बना दिया है 'पेट्रोल पम्‍प' 
आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह ने खुद बुधवार को बताया कि डीजल की होम डिलिवरी को पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में पुणे में लॉन्‍च किया गया है। आने वाले दिनों में देश के दूसरे हिस्‍सों में फ्यूल की होम डिलिवरी शुरू की जाएगी। देश की सबसे बड़ी ऑयल कंपनी आईओसी ने एक डीजल डिस्‍पेंसर (पेट्रोल पम्‍प की तरह) को एक मझोले आकार के ट्रक पर स्‍थापित किया है, जिसमें डीजल की डिलिवरी के लिए एक स्‍टोरेज टैंक है। इसके जरिए पुणे में ग्राहकों के दरवाले पर डीजल की डिलिवरी होगी। 

आईओसी चेयरमैन संजीव सिंह का कहना है कि हम ऐसी पहली कंपनी है जिसने पेट्रोलियम और एक्‍स्‍प्‍लोसिव सेफ्टी ऑर्गनाइजेशन (पीईएसओ) से मंजूरी मिलने के बाद डीजल की होम डिलिवरी शुरू की है। इसे पुणे पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में शुरू किया गया है। तीन महीने के ट्रायल के बाद मिले रिस्‍पांस के आधार पर इसे दूसरे शहरों में शुरू किया जाएगा। जल्‍द ही पेट्रोल को लेकर भी यह सर्विस शुरू की जाएगी। 

 

शुरुआत में खास कस्‍टमर्स पर है फोकस 
कंपनी के अनुसार, शुरुआत में कंपनी बड़े कस्‍टमर्स जैसे शॉपिंग मॉल्‍स और कॉमर्शियल बिल्डिंग्‍स को टारगेट करेगी। इनको जेनसेट में यूज होने वाले डीजल की सप्‍लाई की जाएगी। इसके अलावा कंपनी का फोकस डीजल की बड़े पैमाने पर खपत करने वाली ट्रांसपोर्ट कंपनियों पर होगा। 

 

 

आगे पढ़ें... क्‍या पेट्रोल पम्‍प पर मिलते रहेंगे पेट्रोल-डीजल 

 

प्रोजेक्‍ट का मकसद कंज्‍यूमर सर्विस

आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि घर के दरवाजे पर डीजल या पेट्रोल की डिलिवरी का प्‍लान रिटेल आउटलेट्स (पेट्रोल पम्‍प) का विकल्‍प नहीं है। इस प्रोजेक्‍ट का मकसद कंज्‍यूमर की सेवा करना है, जैसेकि खेत में लगे हार्वेस्‍टर को दोबारा फ्यूल के लिए पेट्रोल पम्‍प पर आने का कोई मतलब नहीं बनता है। ऐसे में यह सर्विस ऐसे कस्‍टमर्स को फायदा पहुंचाएगी। 

 

ये कंपनियां भी शुरू करेंगी फ्यूल की होम डिलिवरी 
संजीव सिंह ने बताया कि आईओसी की तरह हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड और भारत पेट्रोलियम कार्प लिमिटेड को भी डीजल की होम डिलिवरी के ट्रायल के लिए पीईएसओ की मंजूरी मिल चुकी है। जल्‍द ही ये कंपनियां अपने रीजन के अनुसार ट्रायल शुरू करेंगी। 

 


आगे पढ़ें... किन जगहों पर होगी फ्यूल की होम डिलिवरी 

 

 

प्रोजेक्‍ट का विस्‍तार दूसरे शहरों में होगा

कंपनी के अनुसार, ट्रायल के रिस्‍पांस के बाद इस प्रोजेक्‍ट का विस्‍तार दूसरे शहरों में होगा। संजीव सिंह का कहना है कि  हमें डोरस्‍टेप यानी होम डिलिवरी का बिजनेस मॉडल डेवलप करना है। मोबाइल फ्यूल डिस्‍पेंसर के जरिए फ्यूल की डिलिवरी उन क्षेत्रों में होगी, जहां पांच किमी के दायरे में कोई पेट्रोल पम्‍प नहीं है। बता दें, पेट्रोलियम मिनिस्‍टर धमेंद्र प्रधान ने पिछले साल अप्रैल में कहा था कि सरकार पेट्रोल और डीजल की होम डिलिवरी शुरू करने के विकप्‍ल पर काम कर रही है। जिससे कि पेट्रोल पम्‍पों पर लंबी-लंबी लाइनें न लगानी पड़े। 

 

भारत में 61,983 पेट्रोल पम्‍प 
भारत में अभी 61,983 पेट्रोल पम्‍प हैं। इसमें सरकारी कंपनियां 90 फीसदी पेट्रोल पम्‍प ऑपरेट कर रही हैं। 2016-17 में देश में 19.46 करोड़ टन फ्यूल की खपत हुई। इसमें से करीब 40 फीसदी डीजल रहा। 2016-17 में डीजल की खपत 7.6 करोड़ टन और पेट्रोल का 2.38 करोड़ टन था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट