Home » Economy » PolicyMSME Ministry plans to rope in designers for luxury Khadi

लग्‍जरी कस्‍टमर्स के लिए आएगी 'सुपर प्रीमियम' खादी, सरकार ने बनाया प्‍लान

सरकार अब इस प्‍लान पर काम कर रही है कि रईसों के लिए खादी का एक नया सेगमेंट 'सुपर प्रीमियम' तैयार किया जाए।

1 of

नई दिल्‍ली. मोदी सरकार की तैयारी अब खादी को लग्‍जरी बनाने की है। सरकार अब इस प्‍लान पर काम कर रही है कि रईसों के लिए खादी का एक नया सेगमेंट 'सुपर प्रीमियम' तैयार किया जाए। सरकार का यह मानना है कि लग्‍जरी कस्‍टमर तक खादी की पहुंच बनाने के लिए यह जरूरी है कि उसे उस वर्ग के लिहाज से डेवलप किया जाए।  

 

ये है लग्‍जरी खादी का प्‍लान 

सुक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम (एमएसएमई) मंत्रालय में सचिव एके पांडा ने बताया कि, हम सबसे पहले सही मायने में सुपर प्रीमियम खादी प्रोडक्‍ट्स की एक लिस्‍ट बनाएंगे। जिनका उत्‍पादन देश के कई हिस्‍सों में हो रहा है और हम उन्‍हें नहीं जानते हैं। हम एक या दो को जानते हैं लेकिन अब हमारे पास उनकी एक डायरेक्‍टरी होनी चाहिए और उनके एक जगह पर लाना चाहिए। जिससे कि युवा यदि कुछ स्‍टाइलिश देखना चाहिए तो वह आसानी से सुपर प्रीमियम खादी प्रोडक्‍ट्स ले सके।

 

टॉप डिजाइनर्स की लेंगे मदद

पांडा ने बताया कि सरकार का प्‍लान टेक्‍सटाइल मिनिस्‍ट्री की सहायता से सुपर प्रीमियम सेगमेंट प्रोडक्‍ट्स के लिए टॉप डिजाइनर्स की सेवाएं लेने का भी है। लग्‍जरी सेगमेंट खासकर युवा वर्ग को देखते हुए यह जरूरी है कि खादी के प्रोडक्‍ट्स डिजाइनर कैटेगरी में उपलब्‍ध हों। आजकल डिजाइनर्स ड्रेसेज की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। 

 

 

आगे पढ़ें... किन जगहों पर होगी लग्‍जरी खादी की बिक्री 

 

 

ग्‍लोबल ब्रांड्स से होगा करार!
सूत्रों का कहना है कि सुपर प्रीमियम खादी प्रोडक्‍ट्स की बिक्री चुनिंदा खादी आउटलेट्स में लाउंज पर होगी। हालांकि, खादी एवं ग्रामीण उद्योग आयोग (केवीआईसी) प्रीमियम खादी प्रोडक्‍ट्स को विस्‍तार देने के लिए ग्‍लोबल लग्‍जरी ब्रांड से भी समझौता कर सकता है। उन्‍होंने बताया कि इस बारे में एक प्रस्‍ताव तैयार किया जा चुका है और 6 अप्रैल को केवीआईसी की बोर्ड मीटिंग में इस पर चर्चा भी हो चुकी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट